×

दरिंदगी की सारी हदें पार: गर्भवती को पहले जलाया और फिर...

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिला अंतर्गत डीह थाना क्षेत्र के एक में गर्भवती  महिला को सुसराली जनों ने पीट-पीट कर मार डाला। क्रूरता की हद ये के सुसराली जनों ने शव को घर के अंदर जला डाला।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 14 Jan 2020 5:09 AM GMT

दरिंदगी की सारी हदें पार: गर्भवती को पहले जलाया और फिर...
X
दरिंदगी की सारी हदें पार: गर्भवती को पहले जलाया और फिर...
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रायबरेली: उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिला अंतर्गत डीह थाना क्षेत्र के एक में गर्भवती महिला को सुसराली जनों ने पीट-पीट कर मार डाला। क्रूरता की हद ये के सुसराली जनों ने शव को घर के अंदर जला डाला। यही नही राज फाश न होने पाए इसलिए शव की राख को पास की नहर में ले जाकर फेंक दिया।

10 साल पहले हुई थी शादी

जानकारी के अनुसार प्रतापगढ़ जिले की सांगीपुर थाने की गोपालपुर निवासी विद्या देवी पत्नी राजेन्द्र कुमार ने आरोप लगाते हुए तहरीर दी कि इसकी बहन उर्मिला (27) का विवाह 10 वर्ष पूर्व पूरे उजागर मजरे डीह निवासी पूर्व प्रधान करमचंद्र के पुत्र रविन्द्र कुमार के साथ हुआ था। पति रविन्द्र कुमार उर्मिला को पीटता था।

यह भी पढ़ें: नहीं था इस शायर के पास खुद का मकान, कलमों को ठीक कराने भेजते थे न्यूयॉर्क

पहले की हत्या, फिर शव को जलाया

बीते 4 जनवरी को पति रविन्द्र कुमार, ससुर करमचंद्र, देवर संजीव कुमार उर्फ कल्लू व देवर ब्रजेश कुमार ने घर में जान से मारकर अपनी चक्की के बगल में शव को जला दिया। मृतका की बहन विद्या देवी ने रोते हुए बताया कि उसकी बहन के दो बेटियां सारिका(7) व राधिका (4) वर्ष है।

गर्भवती थी महिला, पुलिस ने हत्या का मामला किया दर्ज

बेटी सारिका से बहन की हत्या की बात पता चली है। विद्या ने बताया कि उसकी बहन गर्भवती थी। मृतका की बहन विद्या की तहरीर पर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया। जिसके बाद सीओ सलोन विनीत सिंह व थानाध्यक्ष जेपी यादव ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद फोरेंसेसिक टीम को बुलवाया गया। फोरेंसेसिक टीम की डॉ. प्रतिभा ने घटनास्थल पर जाकर साक्ष्य संकलन किया।

यह भी पढ़ें: JNU हिंसा: आईशी घोष से लगातार 40 मिनट तक हुआ सवाल-जवाब

पति ने गुमशुदगी का मामला कराया था दर्ज

इस बारे में थानाध्यक्ष जेपी यादव ने बताया कि घटना 4 जनवरी की रात की है। इसके पति रविन्द्र ने 10 जनवरी को पत्नी के गुमशुदा होने का मामला दर्ज कराया था। मामले की जांच करने के दौरान पता चला कि पूरा परिवार घर से भाग गया। इसी दौरान इसकी बेटी के रिश्तेदारी में होने की जानकारी मिली।

इन पर मामला हुआ दर्ज

सलोन क्षेत्राधिकारी विनीत सिह ने बताया कि बेटी से जानकारी करने पर पता चला कि हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया है। मृतिका की बहन की तहरीर पर पति ससुर समेत दो देवरों पर हत्या करके शव जलाने का मामला दर्ज कराया गया है।

यह भी पढ़ें: निर्भया के दोषियों को मिला आखिरी मौका, SC करेगी फैसले पर पुनर्विचार

Shreya

Shreya

Next Story