×

वाराणसी में तबाही: डूब गए मंदिर-घाट और मकान, गंगा के विकराल रूप से कांपे लोग

गंगा नदी का जलस्तर धर्मनगरी वाराणसी में तेज रफ्तार से बढ़ रहा है। अभी हालात कुछ भी सामान्य नहीं हैं, गंगा नदी के भयानक रूप को देखते हुए तीसरी बार उनकी आरती करने वालों के कदम पीछे हो गए हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 19 Aug 2020 1:31 PM GMT

वाराणसी में तबाही: डूब गए मंदिर-घाट और मकान, गंगा के विकराल रूप से कांपे लोग
X
वाराणसी में तबाही: डूब गए मंदिर-घाट और मकान, गंगा के विकराल रूप से कांपे लोग
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी। गंगा नदी का जलस्तर धर्मनगरी वाराणसी में तेज रफ्तार से बढ़ रहा है। अभी भी हालात कुछ भी सामान्य नहीं हैं, गंगा नदी के भयानक रूप को देखते हुए तीसरी बार उनकी आरती करने वालों के कदम पीछे हो गए हैं। गंगा के विकराल रूप को देखते हुए गंगा आरती अब मुख्य सीढ़ियों से बिल्कुल नीचे हो रही है। क्योंकि जहां पर आमतौर पर गंगा आरती होती है, वहां करीब 4 फुट से ज्यादा पानी भर गया है। बता दें, इस बार सामान्य से करीब 20 फुट ज्यादा पानी इस वक्त दशाश्वमेध घाट पर है।

ये भी पढ़ें... बिक रहे ये 4 बैंक: सरकार प्राइवेटाइजेशन की तैयारी में, जल्द से जल्द होंगी प्राइवेट

सब हुआ जलमग्न

जिसकी वजह से एक तरफ जहां घाटों का आपसी संपर्क पूरी तरह टूट गया है। वहीं दूसरी तरफ ज्यादातर मंदिर पानी में समा गए हैं। हालात इतने बिगड़ गए हैं कि जिन घाटों पर आप पैदल चहलकदमी करते थे, वहां पर गंगा का पानी है और उस पर नाव चल रही हैं।

Ganga river spate

ऐसे में वाराणसी के सबसे प्रमुख घाट दशाश्वमेध पर स्थित शीतला मंदिर की दीवारों तक पानी आ गया है। सती मां का मंदिर, शूलटंकेश्वर मंदिर और गुफा वाला मंदिर डूब गया है। हनुमान मंदिर तक पानी पहुंच गया है। वहीं मणिकर्णिका घाट पर नीचे का शवदाह स्थल पूरी तरह से पानी में जलमग्न हो गया है।

ये भी पढ़ें...सिर्फ 8 रुपये में खाना: सरकार का बड़ा उपहार, ‘कोई भी भूखा नहीं सोये’ है संकल्प

गंगा का विकराल रौद्र रूप

Flood-in-varanasi

विपरीत हालातों में मजबूरीवश शवदाह ऊपर किया जा रहा है। गंगा का पानी लगातार एक-एक सीढ़ी चढ़ रहा है। मणिकर्णिका घाट स्थित रत्नेश्वर महादेव का गर्भगृह पूरी तरह से डूबने के बाद अब मां गंगा शिखर के बिल्कुल नजदीक पहुंच गई हैं। ऐसे में जैसे-जैसे पानी चढ़ रहा है वैसे-वैसे लोगों की धड़कनें भी बढ़ रही हैं। बीते साल भी गंगा ने विकराल रौद्र रूप दिखाया था।

अब गंगा के बढ़ते जलस्तर को देखते हुए वाराणसी में गंगा से सटे इलाकों में बाढ़ का खतरा सताने लगा है। लंका थाने के सामने घाट स्थित मारुति नगर कालोनी में नाला चोक होने से पूरी कालोनी धीरे-धीरे टापू बनती जा रही है। गंगा में उफान के चलते नाविकों के रोजी-धंधे पर भी काले बादल छा रहे हैं।

ये भी पढ़ें...लालू को तगड़ा झटका: पार्टी में मची अफरा-तफरी, दिग्गज नेता ने छोड़ा साथ

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story