Top

शुरू हुई जांच: विकास की संपत्ति का लेखा-जोखा, ED लेगी पूरा हिसाब

माफिया विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अब उसकी संपत्ति की जांच होगी। प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने विकास दुबे की सारी संपत्तियों की जांच शुरू कर दी है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 11 July 2020 6:56 AM GMT

शुरू हुई जांच: विकास की संपत्ति का लेखा-जोखा, ED लेगी पूरा हिसाब
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ : माफिया विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद अब उसकी संपत्ति की जांच होगी। प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने विकास दुबे की सारी संपत्तियों की जांच शुरू कर दी है। इसके लिए ईडी ने उत्तर प्रदेश पुलिस से विकास दुबे और उसके परिवार के सभी सदस्यों और सहयोगियों के साथ सभी चीज का विवरण मांगा है। ईडी ने माफिया विकास दुबे के खिलाफ आपराधिक मामलों की समस्त जानकारी मांगी है।

ये भी पढ़ें... मानसून से कांपेंगे लोग: होगी ऐसी जबरदस्त बारिश, इन राज्यों में जारी हाई-अलर्ट

घर को उसी के जेसीबी से मिट्टी में ढा दिया

विकास दुबे एनकाउंटर से पहले कानपुर में स्थानीय प्रशासन ने माफिया विकास दुबे के किले जैसे घर को उसी के जेसीबी से मिट्टी में ढा दिया, जो पुलिस टीम के घेराव में इस्तेमाल की गई थी। इसके बाद उसके घर में खड़ी उसकी कारों को जेसीबी के नीचे कुचला गया। उसका लखनऊ में एक मकान है, उस पर भी प्रशासन की नजर है।

आपको बता दें कि कानपुर पुलिसहत्याकांड का आरोपी माफिया विकास दुबे यूपी स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) के साथ एनकाउंटर में 10 जुलाई की सुबह रास्ते में मुठभेड़ में मार दिया गया था।

इस बारे में पुलिस ने जानकारी देते हुए कहा है कि यूपी एसटीएफ की गाड़ी विकास दुबे को मध्य प्रदेश के उज्जैन से लेकर कानपुर आ रही थी। गाड़ी की रफ्तार तेज थी। बारिश होने से रोड पर फिसलन थी। कानपुर पहुंचने से 17 किलोमीटर पहले अचानक रास्‍ते में गाड़ी पलट गई।

ये भी पढ़ें... इस दिग्गज डॉक्टर का दावा-दुनिया से पूरी तरह से खत्म नहीं होगा कोरोना वायरस

कई पुलिसवालों को भी चोटें

आगे पुलिस का कहना है कि इस हादसे में विकास दुबे और कई पुलिसवालों को भी चोटें आईं। इसके बाद विकास दुबे की नजरें पुलिस के हाथकंडे से बचकर भागने पर थी।

लेकिन उसने मौका पाकर एसटीएफ के एक जवान की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। इसी के बाद एनकाउंटर शुरू हो गया। एसटीएफ ने विकास दुबे से हथियार सौंप सरेंडर करने को कहा, लेकिन इसके बावजूद वह नहीं माना तो पुलिस को मजबूरन गोली चलानी पड़ी और विकास दुबे का एनकाउंटर में का अंत हो गया।

ये भी पढ़ें... रफ्तार के शौकीन ध्यान देंः रॉंग ड्राइविंग में इग्लैंड के इस क्रिकेटर की गई जान

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story