यूपी में हिंसा: मारपीट के बाद चलीं ताबड़तोड़ गोलियां, चार घायल

पिलुआ थाना क्षेत्र के अन्तर्गत बुधवार को दोपहर जमीनी विवाद के चलते दो पक्षों में मारपीट और फायरिंग की घटना में चार लोग घायल हो गए, जिनमें से…

एटा: पिलुआ थाना क्षेत्र के अन्तर्गत बुधवार को दोपहर जमीनी विवाद के चलते दो पक्षों में मारपीट और फायरिंग की घटना में चार लोग घायल हो गए, जिनमें से एक महिला और एक पुरुष को गोली लगना बताया गया है। सभी घायलों को जिला चिकितसालय में भर्ती कराया गया है। खबर सुन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार सिंह, कोतवाली नगर इंस्पेक्टर अशोक कुमार, पिलुआ थानाध्यक्ष जिला चिकित्सालय पहुंच गए थे। एसएसपी ने पुलिस को सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

ये पढ़ें: पठानकोट के शेल्टर होम में ठहराए गए शरणार्थी भूख हड़ताल पर बैठे

पहले मामला शांत हुआ लेकिन दूसरे दिन…

घटनाक्रम के मुताबिक, क्षेत्र के नगला सुंदर निवासी दलवीर सिंह पुत्र जयदेव सिंह और परिवार के छोटे के मध्य काफी समय से जमीनी विवाद चला आ रहा है। इसी विवाद को लेकर मंगलवार को खेत पर लांक इकट्ठा करते समय दोनों पक्षों में विवाद हुआ, लेकिन मामला शांत हो गया था। बुधवार की दोपहर करीब 12 बजे पुनः दोनों पक्षों में खेत पर ही झगड़ा हो गया। इस दौरान दोनों तरफ से फायरिंग और मारपीट हो गई। इस घटना में 60 वर्षीय कंठश्री पत्नी शेर सिंह, 16 वर्षीय सोनू पुत्र जगवीर सिंह, 40 वर्षीय दलवीर सिंह पुत्र जयदेव सिंह और दूसरे पक्ष का 70 वर्षीय छोटे सिंह पुत्र जसराम सिंह घायल हो गया। कंठश्री की कमर में और छोटे के हाथ में गोली लगना बताया गया है।

ये पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 727 पहुंची, आज 69 नए केस

घटनास्थल पर पहुंचे प्रशासन के लोग

कंठश्री की पुत्रवधू मुनीषा देवी पत्नी जगवीर सिंह ने बताया कि उमेशचन्द्र फौजी पुत्र छोटे सिंह ने उसकी सास को गोली मारी है। मारपीट करने वालों में विनेश कुमार पुत्र छोटे सिंह, वीकेश कुमार पुत्र छोटे सिंह, महावीर सिंह पुत्र विश्राम सिंह समेत 8-10 लोग शामिल हैं। घटना की खबर लगते ही पिलुआ थानाध्यक्ष नगला सुंदर पहुंच गए। फिर चारों घायलों को एम्बुलेंस (108) में बिठाकर जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी कक्ष में भर्ती कराया गया। सूचना पाकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, कोतवाली नगर इंस्पेक्टर और पिलुआ थाना पुलिस अस्पताल पहुंच गई। एसएसपी ने जिला चिकित्सालय में स्वास्थ्यकर्मियों को अच्छा उपचार करने को कहा। वहीं, मौजूद पुलिसकर्मियों को निगरानी करने के निर्देश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें: सरकारी आदेशों की हकीकत: गरीबों के हक पर कालाबाजारी का चाबुक

कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले: बढ़ाई सैलरी इन कंपनियों ने, इनको भी होगा बड़ा फायदा

खाते के नियमों में बदलाव: जान लें PF खाताधारक, ऐसे निकलेंगे पैसे

जियो ने पेश किया ‘जियो एसोसिएट प्रोग्राम’, लॉकडाउन में रिचार्ज का अनूठा तरीका