×

योगी सरकार में दिखने लगी है अयोध्या में निवेश को लेकर तेजी

वर्षो पुराने अयोध्या विवाद का फैसला आने के बाद जहां पर्यटकों की संख्या में लगातार वृद्वि हो रही है वहीं उद्यमियों में भी इस क्षेत्र में निवेश की संभावना भी बढ़ने लगी है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 21 Jan 2020 3:51 PM GMT

योगी सरकार में दिखने लगी है अयोध्या में निवेश को लेकर तेजी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: वर्षो पुराने अयोध्या विवाद का फैसला आने के बाद जहां पर्यटकों की संख्या में लगातार वृद्वि हो रही है वहीं उद्यमियों में भी इस क्षेत्र में निवेश की संभावना भी बढ़ने लगी है।

योगी सरकार आने के बाद लगातार हुए कई आयोजनों से इस क्षेत्र के प्रति निवेशकों का आकर्षण बढ़ा है। वहीं दूसरी तरफ अयोध्या को विश्व धरोहर के तौर पर घोषित कराने की राज्य सरकार की कोशिशों के पहले ही निवेशकों में सक्रियता दिखने लगी है।

राज्य सरकार इस क्षेत्र के विकास के लिए कई योजनाओं पर काम कर रही है। रामायण सर्किट बको लेकर चल रही योजना में अयोध्या को गेटवे बनाया जाएगा।

सरयू नदी में बड़ा हादसा, नाव पलटने से कई लोग डूबे, बचाव कार्य जारी

शासन सूत्रों के अनुसार वाराणसी के बाद अबतक अयोध्या में ही निवेश के सबसे अधिक प्रस्ताव सामने आए हैं। पिछले साल के अंत तक लगभग 400 करोड रूप्ए तक के प्रस्ताव मिल चुके थें।

पहली ग्राउन्ड बे्रकिंक सेरेमनी में 300 करोड रूप्ए के प्रस्ताव मिल चुके थें। जबकि दूसरी ब्रेकिंग सेरेमनी में 827 करोड के 24 प्रस्ताव मिले। यूपी में 2017 में भाजपा सरकार ने दीपोत्सव का कार्यक्रम कराने के साथ भगवान की राम की आदमकद प्रतिमा लगाने और राममंदिर निर्माण के लिए की जा रही तैयारियों के कारण ही यहां पर्यटकों की संख्या में लगातार वृ्रद्वि हो रही है।

इसके अलावा डिजिटल म्युजियम 84 कोसी परिक्रमा मार्ग पर प्र्यटकों की सुविधाओं को बढाने के लिए सरकार काफी धन खर्च कर रही है। लगभग 4000 करोड की लागत से बनने वाली भगवान की प्रतिमा का काम 2022 तक पूरा हो जाने की पूरी संभावना है। जिसके चलते निवेशक आकर्षित हो रहे हैं।

सोनिया गांधी ने पंजाब कांग्रेस कमेटी को लेकर उठाया ये बड़ा कदम

जहां 2014 में अयोध्या में पर्यटकों की संख्या लगभग डेढ़ करोड़ थी वहीं 2017 में यह बढकर पौने दो करोड़ तथा 2019 में यह संख्या बढ़कर 19244614 हुई और इसके बाद यह संख्या 2019 में बढकर दो करोड पार कर गयी।

अयोध्या को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित करने के लिए होटल रिसोर्टस बस अडडे अािद को आधुनिक बनाने के लिए प्रशासन लगातार योजनाओं को अंतिम रूप् देने के प्रयास में जुटा हुआ हैै।

शाहीन बाग में 500 रुपये देकर भीड़ जुटाने के मामले में BJP को लगा तगड़ा झटका

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story