योगी सरकार में किसे मिलेगा मंत्री पद, किसका कटेगा पत्ता

प्रदेश की ढाई साल पुरानी योगी सरकार में पहला फेरबदल बुधवार को होने जा रहा है। इसके लिए सारी तैयारियां की जा चुकी हैं। 21 अगस्त को सुबह 11 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा। जिसमें राज्यपाल आनंदी बेन पटेल नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी।

लखनऊ: प्रदेश की ढाई साल पुरानी योगी सरकार में पहला फेरबदल बुधवार को होने जा रहा है। इसके लिए सारी तैयारियां की जा चुकी हैं। 21 अगस्त को सुबह 11 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया जाएगा। जिसमें राज्यपाल आनंदी बेन पटेल नए मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी।

योगी मंत्रिमंडल में जिन मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है उनमे कपिल अग्रवाल, जीएस धर्मेश, चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय, पंकज सिंह, करन सिंह पटेल, कृष्णा पासवान, रामचन्द्र यादव, सत्यप्रकाश अग्रवाल डेरी वाले, विक्रमाजीत मौर्य के नाम चर्चा में हैं।

यह भी पढ़ें…एसबीआई के ग्राहकों के लिए बड़ी खुशखबरी, बैंक ने किए ये बड़े ऐलान

इनके अलावा भाजपा के विधानपरिषद सदस्य और संगठन में महती भूमिका निभाने वाले विजय बहादुर पाठक राकेश कटारिया और विद्यसगार सोनकर को भी मंत्रिमंण्डल विस्तार में स्थान मिल सकता है।

मंत्रिमंडल में जगह पाने वालों में सतीश द्विवेदी, श्रीराम चौहान व रवि शर्मा के नाम प्रमुख रूप से चर्चा में हैं। पश्चिमी उत्तर प्रदेश से सुनील शर्मा तथा फर्रुखाबाद से सुशील कुमार शाक्य व सुनील दत्त द्विवेदी में से किसी एक को लिया जा सकता है। जबकि बुंदेलखण्ड से मनीषा अनुरागी का नाम चर्चा में है।

यह भी पढ़ें…भारतीय सेना ने लिया बदला, अभिनंदन को पकड़ने वाले पाक सैनिक को किया ढेर

कहा जा रहा है कि तीन-चार राज्यमंत्रियों का कद बढ़ाकर उनको कैबिनेट मंत्री पद की शपथ भी दिलाई जाएगी। राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार डॉ. महेंद्र सिंह को कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ दिलाई जा सकती है। धर्मसिह सैनी, अतुल गर्ग को राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार से कैबिनेट का दर्जा दिया जा सकता है।

विवादों में रहे कई मंत्रियों के विभागों में फेरबदल किए जाने का भी फैसला किया गया है। कई मंत्री तबादले व विभागीय कार्यशैली को लेकर विवाद में रहे थे। उन्हें मंत्रिमंडल से हटाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें…राममंदिर तोड़कर बाबरी मस्जिद बनने के ये रहे सबूत

इससे पहले आज वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल और बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। हालांकि कुछ और मंत्रियों के इस्तीफे की चर्चा रही, पर उनके इस्तीफे की पुष्टि नहीं हो सकी।

योगी आदित्यनाथ सरकार में मुख्यमंत्री समेत 47 सदस्यीय मंत्रिमंडल में राजभर को बाहर किए जाने और दो मंत्रियों के इस्तीफे बाद अब 44 मंत्री हैं। मुख्यमंत्री अपने मंत्रिमंडल की संख्या 60 तक रख सकते हैं। योगी सरकार के तीन मंत्री डाॅ रीता बहुगुणा जोशी, एसपी सिंह बघेल और सत्यदेव पचौरी सांसद बन चुके हैं।