कोरोना को हराकर घर लौटी 103 साल की महिला, जानिए कैसे दी इस बीमारी को मात

कोरोना का खौफ पूरी दुनिया में हो गया है। ऐसे में 103 वर्षीय एक महिला इस खतरनाक वायरस को पछाड़कर बिल्कुल ठीक होकर घर लौटी है।

Published by Aradhya Tripathi Published: March 19, 2020 | 2:53 pm

कोरोना का खौफ पूरी दुनिया में हो गया है। पूरी दुनिया में करीब 2 लाख से ज्यादा लोग बीमार हैं। करीब 9 हजार लोग मारे जा चुके हैं। वैसे तो ये वायरस सभी के लिए खतरनाक है, लेकिन ये बुज़ुर्गों को काफी तेज अपनी पकड़ में लेता है। और उनके लिए ज्यादा ही खतरनाक माना जाता है। ऐसे में 103 वर्षीय एक महिला इस खतरनाक वायरस को पछाड़कर बिल्कुल ठीक होकर घर लौटी है।

कोरोना से प्रभावित सबसे बुज़ुर्ग महिला

ईरान की राजधानी तेहरान से 180 किलोमीटर दूर सेमनान अस्पताल में भर्ती रहीं इस बुजुर्ग महिला ने कोरना वायरस को हरा दिया है। महिला का नाम हालांकि अधिकारियों ने जाहिर नहीं किया है लेकिन महिला की चर्चा हर तरफ हो रही है। स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सेमनान प्रांत के स्वास्थ्य अधिकारी नाविद दानाई ने मीडिया को बताया है कि 103 वर्ष की एक महिला, जो कोरोना वायरस से प्रभावित होने वाली सबसे अधिक आयु वाली महिला थी।

ये भी पढ़ें- कोरोना से नहीं निपट पा रहा पाकिस्तान, अब वर्ल्ड बैंक से लगाई ये गुहार

उसने कोरोना को हरा दिया है और अब वो अस्पताल से वापस घर चली गई है।
इन बुजुर्ग महिला का इतना जल्दी ठीक हो जाना एक प्रकार से चमत्कार है। क्योंकि कोरोना वायरस खराब इम्यून सिस्टम वाले और बुजुर्ग लोगों के लिए ज्यादा खतरनाक है। इन्हें यह वायरस जल्दी लपेटे में ले लेता है। यही कारण है कि दुनियाभर में बुजुर्ग लोग इसके ज्यादा शिकार हो रहे हैं।

16169 लोगों में से 5389 मरीज हो चुके ठीक

एक तथ्य यह भी है कि ईरान में इस खतरनाक रोग से ठीक होकर लौटीं ये बुजुर्ग अकेली नहीं हैं, इससे पहले 91 वर्षीय एक अन्य को भी दक्षिण-पूर्वी ईरान के एक अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी।
रिपोर्ट्स की माने तो इन बुजुर्ग को हाई ब्लड प्रेशर और अस्थमा भी था, जो ऐसे मामलों में घातक माना जाता रहा है। फिलहाल ईरानी डॉक्टरों ने यह नहीं बताया है कि इन दोनों वरिष्ठ नागरिकों को अस्पताल में क्या दवा दी गई है।

ये भी पढ़ें-  यूपी के इस जिले में बदहाल है स्वास्थ्य सुविधाएं, जानिए क्या है बड़ी वजह

पिछले दिनों ईरान के स्वास्थ मंत्रालय के एक बयान में बताया गया था कि देश में 16169 लोग कोरोना वायरस से प्रभावित हुए थे। जिनमें से 5389 लोग उपचार के बाद अस्पताल से वापस चले गए हैं। हालांकि ईरान में ताजा आंकड़ा 17 हजार के पार हो चुका है, जिसमें से 1100 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

भारत में संक्रमित की संख्या 172

यह महिला कोरोना वायरस को मात देने वाली अब दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला है। हालांकि रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ दिन पहले ठीक 103 साल की ही एक महिला चीन के वुहान शहर से भी कोरोना वायरस को हराकर अस्पताल से लौटी है। और वुहान के ही 101 वर्षीय एक व्यक्ति भी इस जानलेवा वायरस की चपेट से बच निकला था।

ये भी पढ़ें-  कहां है निर्भया का दोस्त और इस केस का आखिरी गवाह? जो उस भयावह रात मौजूद था

बता दें कि इधर भारत में भी कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है। देशभर में कोरोना मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक संक्रमित लोगों की संख्या 172 हो गई है। इसमें तीन लोगों की मौत और 16 सही होकर घर जा चुके हैं। यानी अभी एक्टिव केस 153 हैं।

घर पर ही रहें

संक्रमण के बारे में जैसा कि तमाम शोधों से स्पष्ट है कि कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने से हवा में फैले या फिर किसी सतह पर गिरे संक्रमित व्यक्ति के थूक के छींटों के किसी भी तरह से संपर्क में आने से फैल सकता है। बेहतर यह है कि आप घर पर ही रहें और लोगों के संपर्क में ना आएं।

ये भी पढ़ें-  कोरोना से खतरनाक ये चीज: कर रहा पाकिस्तान को बर्बाद, भुखमरी की कगार पर देश

और जो लोग पहले ही किसी भी तरह के फ्लू से संक्रमित हैं या पहले से ही डायबिटीज, सांस की समस्या या अन्य किसी बीमारी से जूझ रहे हैं, वे अतिरिक्त सतर्कता बरतें, डॉक्टर्स की सलाह लें।
इसके अलावा जहां भी रहें वहां हाइजीन बनाए रखें और बार-बार मुंह, नाक और आंखों को छूने से बचें। छींकते या खांसते समय अपने मुंह को हमेशा ढंकें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App