भूकंप से हिला देश: तेज झटके ने 14 को सुला दिया मौत की नींद, 200 से अधिक घायल

तुर्की सरकार ने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की है। बताया जाता है कि भूकंप रात करीब 8 बजकर 55 मिनट पर आया था। भूकंप में कई इमारतों को गिर जाने के कारण कई लोग उसके नीचे दब गए।

अंकारा: पूर्वी तुर्की में शुक्रवार देर रात भूकंप की चपेट में आने से 14 लोगों की मौत हो गई।  स्थानीय मीडिया के मुताबिक भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.8 दर्ज की गई है। भूकंप की झटके इतनी तेज थे कि कई इमारतें पूरी तरह से ढह गईं। सुरक्षाबलों ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है। इमारतों के नीचे अभी भी कई लोगों के दबे होने की आशंका जताई गई है। तुर्की के आंतरिक मामलों के मंत्री सुलेमान सोयलू ने कहा कि भूकंप से हुए नुकसान का आकलन किया जा रहा है। मृतकों की संख्या में इजाफा हो सकता है।

यह पढ़ें…आईएमएफ प्रमुख क्रिस्टालिना जॉर्जीवा का बयान, भारत की आर्थिक सुस्ती अस्थाई

 

 

तुर्की के आपातकालीन प्रबंधन एजेंसी ने बताया कि पूर्वी हिस्से में 6.8 की तीव्रता वाले तेज भूकंप के झटके महसूस किए गए। यह झटके पूर्वी एलाजिग प्रांत के सिवरिस कस्बे के आस पास महसूस किए गए। स्थानीय लोगों के मुताबिक झटके इतनी तेज थे कि पूरा घर हिलने लगा था। भूकंप के डर से लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। बताया जाता है कि झटके इतनी तेज थे कि कई बड़ी इमारतें देखते ही देखते जमीन पर गिर पड़ीं। इस दौरान 14 लोगों की मौत की खबर है और 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

यह पढ़ें…भारत एक राष्ट्र के साथ-साथ एक जीवंत परंपरा है: पीएम मोदी

भूकंप की खबर मिलते ही राहत और बचाव कार्य तेज कर दिया गया है। अभी भी काफी लोग इमारतों के नीचे दबे हुए हैं. मलबे को हटाने का काम किया जा रहा है। हालांकि भूकंप के कारण काफी ज्यादा नुकसान हुआ है. ऐसे में मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। तुर्की सरकार ने लोगों से धैर्य बनाए रखने की अपील की है। बताया जाता है कि भूकंप रात करीब 8 बजकर 55 मिनट पर आया था। भूकंप में कई इमारतों को गिर जाने के कारण कई लोग उसके नीचे दब गए। रात का समय होने के कारण राहत और बचाव टीम को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।