200 रुपए का उधार चुकाने 22 साल बाद भारत लौटा ये सांसद

केन्या की न्यारीबारी चाचे लोकसभा सीट से सांसद रिचर्ड न्यागाका टोंगी 22 साल पहले लिए कर्ज को चुकाने के लिए महाराष्ट्र के औरंगाबाद पहुंचे।

रिचर्ड न्यागाका टोंगी-काशीनाथ गवली

रिचर्ड न्यागाका टोंगी-काशीनाथ गवली

मुंबई: हम अपनी जिंदगी में कभी ना कभी उधार जरूर लेते हैं। कोई-कोई ऐसा व्यक्ति होता है, जो उधार चुकाने से मुकर जाते हैं या फिर ऐसे लोग भी लोग होते हैं, जो उधार चुकाना भूल जाते हैं।

लेकिन आज हम आपको एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्होंने 22 पहले 200 रुपए कर्ज लिया था, जिसे चुकाने के लिए वे सात समंदर पार गए। ये कोई और नहीं बल्कि केन्या के सांसद हैं, जो अपने इस अच्छाई के कारण काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं।

ये भी पढ़ें…इनसे सीखें: 12 साल पुराने मामले में डीएम ने फरियादी की ऐसी की मदद, आप भी करेंगे सैल्यूट!

कर्ज चुकाने के लिए केन्या से आये भारत

केन्या की न्यारीबारी चाचे लोकसभा सीट से सांसद रिचर्ड न्यागाका टोंगी 22 साल पहले लिए कर्ज को चुकाने के लिए महाराष्ट्र के औरंगाबाद पहुंचे।

उन्होंने काशीनाथ गवली नामक किरानेवाले से 200 रुपये उधार लिए थे। टोंगी ने 1985-89 में मौलाना आजाद कॉलेज से प्रबंधन की पढ़ाई की थी। उन्हें गवली रोजाना खाना दिया करते थे।

जब टोंगी केन्या लौटे तो उनके ऊपर गवली के 200 रुपये उधार थे। गवली उस समय वानखेड़ेनगर में किराने की दुकान चलाते थे। यह वह जगह थी जहां टोंगी रहा करते थे।

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘मेरे ऊपर 22 साल पहले का उधार था जिसे मैंने नहीं चुकाया था। उन्होंने मुझे खाना दिया लेकिन मैंने उसके पैसे नहीं दिए। इसलिए जब मेरी शादी हुई तो मैंने भारत वापस आकर पैसे चुकाने की प्रतिज्ञा ली। अब मेरे दिल को चैन मिल गया है।’

ये भी पढ़ें…नवजात पोते के लिए 80 साल की दादी ने उठाया ऐसा कदम, बन गई मिसाल

छात्र जीवन में की थी मदद

टोंगी अपनी पत्नी मिशेल के साथ औरंगाबाद पहुंचे। उनकी पत्नी ने कहा यह एक भावनात्मक यात्रा थी। केन्या के सांसद ने कहा, ‘औरंगाबाद मे एक छात्र के रूप में मैं निम्नतम बिंदु पर था।

तब इन लोगों (गवली) ने मेरी मदद की। उस समय मैंने सोचा था कि एक दिन मैं वापस आउंगा और उधार चुकाउंगा। मैं धन्यवाद कहना चाहता हूं। यह मेरे लिए बहुत भावनात्मक है।’

मुस्कुराते हुए टोंगी ने कहा, ‘भगवान इस वृद्ध (गवली) और इसके बच्चों पर अपना आशीर्वाद बनाए रखें। यह बहुत अच्छे हैं। वह मुझे खाने के लिए होटल ले जाना चाहते थे लेकिन मैंने घर का खाना खाने की इच्छा जताई।’

उन्होंने उस कॉलेज के छात्रों से भी बातचीत की जहां वह पढ़ाई करते थे। औरंगाबाद से रवाना होने से पहले टोंगी ने गवली को अपने देश की यात्रा करने का आमंत्रण दिया है।

ये भी पढ़ें…सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहे हैं यो यो हनी सिंह, वीडियो वायरल