बम धमाके में 24 की मौत, राष्ट्रपति की रैली को आतंकियों ने बनाया निशाना

अफगानिस्तान में धमाकों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन धमाके की खबरें सुनने को मिलती हैं। अभी मिली ताजा खबर के मुताबिक, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की रैली में भयंकर धमाका हुआ है।

Published by Vidushi Mishra Published: September 17, 2019 | 2:44 pm
Modified: September 17, 2019 | 2:50 pm
Afganistan

Afganistan

नई दिल्ली : अफगानिस्तान में धमाकों का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। आए दिन धमाके की खबरें सुनने को मिलती हैं। अभी मिली ताजा खबर के मुताबिक, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की रैली में भयंकर धमाका हुआ है। ये धमाका इतना भीषण था कि मौकें पर ही 24 लोगों की मौत हो गई और 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

यह भी देखें… काटो जरा चालान! बेखौफ नियम तोड़ता है ये इंसान, पुलिस भी इससे परेशान

रैली में हुआ धमाका

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी की रैली में मंगलवार को हुए इस धमाके में रैली में शामिल हुए 24 लोगों की धमाके में ही मौत हो गई। इसके साथ ही रैली में मौजूद लोगों में से 30 अन्य लोग घायल भी हो गए हैं।

आपको बता दें कि अफगानिस्तान में हालहिं में हुई ये घटना कोई नयी नहीं है बल्कि इससे पहले भी कई बार अफगानिस्तान में आतंकी हमले हो चुके हैं। यहां तक अफगानिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर भी हुए आतंकी हमले ने पूरे माहौल को शोक में तबदील कर दिया था।

अफगानिस्तान

बात करें अगर अफगानिस्तान के धमाकों की तो बीती अगस्त में ही करीब 1 माह में 3 बार धमाके हो चुकें हैं। अगस्त में अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक आत्‍मघाती बम विस्फोट हुआ था, जिसकी वजह से लगभग 40 लोगों की मौत हो गई थी और 100 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे।

यह भी देखें… 500 रु में बड़े फायदे: तुरंत जुड़ें मोदी की इन लाजवाब स्कीमों से

इसके बाद अफगानिस्तान में ये बम धमाका कुंडूज शहर के बाहरी इलाके में हुआ है। मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, इस धमाके में सुरक्षा बल के 6 जवानों की मौत हो गई थी।

अफगानिस्तान

इससे पहले अफगानिस्तान स्वतंत्रता दिवस पर एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था। जिसमें जलालाबाद में हुए इस आतंकी हमले में 66 लोग घायल हो गए थे। यह हमला अफगानिस्तान के स्वतंत्रता दिवस समारोह से पहले हुआ था। इस हमले के बाद अफगानिस्तान में स्वतंत्रता दिवस समारोह को टाला गया था।