×

धमाकों में उड़ी सेना: ताबड़तोड़ भयानक हमलों से हिला काबुल, मातम ही मातम

अफगानिस्तान के उत्तरी बल्ख प्रांत में भीषण बम विस्फोट हो गया है। प्रांत में सड़क पर बम विस्फोट होने की वजह से एक बटालियन कमांडर सहित अफगान सेना के दो आला अधिकारियों की मौत हो गई। विस्फोट के बारे में ये जानकारी सेना ने दी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 25 Dec 2020 1:28 PM GMT

धमाकों में उड़ी सेना: ताबड़तोड़ भयानक हमलों से हिला काबुल, मातम ही मातम
X
प्रांत में सड़क पर बम विस्फोट होने की वजह से एक बटालियन कमांडर सहित अफगान सेना के दो आला अधिकारियों की मौत हो गई। विस्फोट के बारे में ये जानकारी सेना ने दी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

काबुल। शुक्रवार को अफगानिस्तान के उत्तरी बल्ख प्रांत में भीषण बम विस्फोट हो गया है। प्रांत में सड़क पर बम विस्फोट होने की वजह से एक बटालियन कमांडर सहित अफगान सेना के दो आला अधिकारियों की मौत हो गई। विस्फोट के बारे में ये जानकारी सेना ने दी। इस बारे में उत्तरी इलाके में सेना के प्रवक्ता हनीफ रेजई ने बताया कि बल्ख और चार बोलाक जिलों के बीच सड़क किनारे लगाये गये बम में विस्फोट होने से कैप्टन मोहम्मद कासिम पैकर और एक अन्य अधिकारी की मौत हो गयी जबकि दो अन्य अधिकारी घायल हो गये।

ये भी पढ़ें... अफगानिस्तान: काबुल में सड़क किनारे बम धमाका, 2 की मौत, 7 घायल

तालिबान को जिम्मेदार ठहराया

अफगानिस्तान में आए दिन बम धमाके और विस्फोट होते रहते हैं। ऐसे में जारी हिंसा के बीच ये नवीनतम घटना है जबकि कतर में तालिबान एवं अफगान सरकार शांति समझौते के प्रयास में वार्ता में लगे हुए हैं।

जिससे दशकों से जारी हिंसा पर अब विराम लग सके। हालाकिं किसी ने भी शुक्रवार के बम धमाके की जिम्मेदारी नहीं ली है। हनीफ रेजई ने फिलहाल आतंकी हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया है जो बल्ख और चार बोलाक जिलों में सक्रिय है और लगातार अफगान सुरक्षा बलों पर हमला करता रहता है।

Afgan blast फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान झटकों से कांपा: अफगानिस्तान तक भूकंप, कई जगह हिली धरती

30 सुरक्षाकर्मियों को आजाद

ऐसे में तालिबान ने कंधार प्रांत के पंजवाई जिले में गुरूवार को 30 सुरक्षाकर्मियों को आजाद किया। ये सितंबर में अफगान सरकार के साथ सीधी शांति वार्ता शुरू करने के बाद से तालिबान द्वारा मुक्त किये गये बंधकों का पहला जत्था है।

इससे पहले राजधानी काबुल में बुधवार को हुए धमाके और गोलीबारी की दो अलग-अलग घटनाओं में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई थी। जिनमें भयानक धमाके से एक स्वतंत्र अफगान चुनाव निगरानीकर्ता समूह के प्रमुख थे। इस बारे में अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

ये भी पढ़ें...आत्महत्या से पहले: 26/11 आतंकी हमले पर बनाने वाली फिल्म, सुशांत को हुई थी ऑफर

Newstrack

Newstrack

Next Story