चीन में कोरोना वायरस के बाद इस भयानक बीमारी ने दी दस्तक

अभी चीन कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने पर ही काबू नहीं पा सका है, इस बीच ऐसी खबर है कि अब वहां बर्ड फ्लू का भी खतरा आ पड़ा है। चीन के हुनान प्रांत में मुर्गियों के बीच खतरनाक एच5एन1 फैलने के मामले सामने आए हैं।

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस ने भयावह रुप ले लिया है। इस महामारी के चलते चीन में अब तक 304 लोगों की मौत हो चुकी है। जहां अभी चीन कोरोना वायरस के संक्रमण के फैलने पर ही काबू नहीं पा सका है, इस बीच ऐसी खबर है कि अब वहां बर्ड फ्लू का भी खतरा आ पड़ा है। चीन के हुनान प्रांत में मुर्गियों के बीच खतरनाक एच5एन1 फैलने के मामले सामने आए हैं। हुनान हुबई के दक्षिणी सीमा के पास स्थित है, जहां तेजी से कोरोना वायरस का संक्रमण फैल रहा है। एक चीनी अखबार की रिपोर्ट से रविवार को यह जानकारी सामने आई है।

4500 मुर्गियों की संक्रमण की वजह से हुई मौत

चीनी अखबार में छपी एक रिपोर्ट में चीन के कृषि व ग्रामीण मामलों के मंत्री से शनिवार को हुई बातचीत के आधार पर लिखा गया है कि, फ्लू फैलने की रिपोर्ट शयोयांग शहर के शुआनक्विंग जिले के एक फॉर्म से मिली है। फॉर्म में 7,850 मुर्गियां हैं, जिनमें से 4500 मुर्गियों की संक्रमण की वजह से मौत हो चुकी है। वहीं स्थानीय अधिकारियों ने संक्रमण फैलने के बाद 17,828 मुर्गियों को सावधानी बरतते हुए मार दिया है।

अभी किसी व्यक्ति के एच5एन1 से संक्रमित होने की खबर नहीं

हालांकि अभी तक हुनान में किसी भी व्यक्ति के एच5एन1 से संक्रमित होने की कोई खबर सामने नहीं आई है। चीन पर बर्ड फ्लू का खतरा ऐसे समय में मंडरा रहा है, जब चीनी अधिकारी पहले से ही कोरोना वायरस पर काबू करने की कोशिश में लगे हुए हैं। आपको बता दें कि एच5एन1 फ्लू वायरस को बर्ड फ्लू भी कहा जाता है। जिससे पक्षियों (बर्ड) में सांस लेने की गंभीर बीमारी उत्पन्न हो जाती है। इसके अलावा यह मनुष्यों में भी संक्रामक है।

यह भी पढ़ें: इस दिग्गज नेता ने सांसद को मारा था थप्पड़, अब भाजपा का मिला साथ 

शव दफनाने, जलाने पर लगाई गई रोक

वहीं चीन ने रविवार को कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए इस बीमारी से मरने वालों को शख्स को दफनाने, जलाने या अंतिम संस्कार करने पर रोक लगा दी है। ऐसे में हुनान प्रांत में बर्ड फ्लू फैलने की भी आशंका जताई जा रही है।

सुरक्षा मंत्रालय ने जारी किए निर्देश

चीन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग, नागरिक मामले मंत्रालय और जन सुरक्षा मंत्रालय ने निर्देश जारी करते हुए कहा है कि, शवों का अंतिम संस्कार उनके स्थान के नजदीक ही शवदाह गृहों (Crematoriums) में ही किया जाना चाहिए। इसके अलावा जारी निर्देश में कहा गया है कि, उन्हें एक क्षेत्र से दूसरे क्षेत्र में नहीं ले जाया जा सकता और उन्हें दफना कर या अन्य साधनों से संरक्षित नहीं किया जा सकता है।

मरने वालों की संख्या बढ़कर 304

बता दें कि, चीन में फैले घातक कोरोना वायरस संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 304 हो गई है और इससे 14,380 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने अपनी दैनिक रिपोर्ट में बताया कि शनिवार तक इस बीमारी के कारण 304 लोगों की मौत हो गई और 14,380 लोगों के इस विषाणु से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है।

4,562 नए संदिग्ध मामले सामने आए

चीन के एनएससी के अनुसार सभी लोगों की मौत हुबेई प्रांत में हुई है। आयोग ने बताया कि शनिवार को इस संक्रमण के 4,562 नए संदिग्ध मामले सामने आए। उसने बताया कि शनिवार को 315 मरीज गंभीर रूप से बीमार हो गए और 85 लोगों को स्वास्थ्य सुधार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

आयोग ने बताया कि कुल 2,110 मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है और कुल 19,544 लोगों के इस वायरस से संक्रमित होने का संदेह है। कुल 328 लोगों को स्वास्थ्य में सुधार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

यह भी पढ़ें: शाहीन बाग़-जामिया के अब सुधरेंगे हालात! EC ने उठाया ये बड़ा कदम…

सड़कों पर मिल रहे पालतू जानवरों के शव

वहीं अब कोरोना वायरस का कहर चीन में इस कदर छा चुका है कि वहां सड़क पर लोगों के शव मिल रहे हैं। लोग राह चलते-चलते लोग अचानक गिर जा रहे हैं। इसके अलावा अब स्थिति इतनी भयावह हो गई है कि लोग अपने पालतू जानवरों को मारकर गलियों में फेंक दे रहे हैं। सड़कों पर इधर-उधर पालतू जानवरों के मृत शव मिल रहे हैं।

पालतू जानवरों से भी कोरोना वायरस फैल रहा

एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन के कोरोना प्रभावित शहरों में पालतू जानवरों के मालिकों ने उनकी बिल्लियों और कुत्तों को अपार्टमेंट से बाहर फेंक दिया गया है, वे बाहर मरे हुए मिले हैं। और उन्होंने ऐसा सिर्फ इस आधार पर किया क्योंकि ऐसा दावा किया गया कि पालतू जानवरों से भी कोरोना वायरस फैल रहा है।

सड़कों और गलियों में मिल रहे जानवरों के शव

रिपोर्ट के मुताबिक चीन के हेबई प्रांत के तियानजिन शहर में फ्लैट के बाहर गलियों में कुत्तों को पाया गया है। शंघाई में पांच बिल्लियों को भी मौत के घाट उतार दिया गया, स्थानीय लोगों ने स्पष्ट रूप से कहा कि वे पालतू जानवर थे।

पहले भी आ चुके हैं ऐसे मामले सामने

इससे पहले चीन के वुहान शहर में ऐसे मामले सामने आए जहां राह चलते लोग अचानक गिर रहे हैं और उनकी मौत हो रही है। ऐसी तस्वीरें भी वहां से सामने आ रही हैं। वुहान के लोगों का कहना है कि साइकिल वाले राहगीर की मौत कोरोना वायरस से हुई है क्योंकि इन दिनों कई लोग ऐसे ही मारे गए हैं, यह बहुत ही भयानक स्थिति है।

यह भी पढ़ें: वेलेनटाइन पर है पार्टनर की तलाश तो ये नंबर भरेगा आप के जीवन में ताउम्र प्यार