अमेरिका ने चीन को दिया तगड़ा झटका, इन दो कंपनियों को बताया देश के लिए खतरा

कोरोना वायरस के बाद चीन विश्व के निशाने पर है। इस महामारी के लिए  अमेरिका ने शुरू से चीन को जिम्मेदार ठहराया है। इसी बीच सीमा पर चीन के साथ विवाद को लेकर दुनियाभर में उसकी निंदा हुई। इधर सोमवार को भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप को बैन कर बड़ा झटका दिया, इसके बाद अब अमेरिका ने भी कदम उठाया है।

नई दिल्ली कोरोना वायरस के बाद चीन विश्व के निशाने पर है। इस महामारी के लिए  अमेरिका ने शुरू से चीन को जिम्मेदार ठहराया है। इसी बीच सीमा पर चीन के साथ विवाद को लेकर दुनियाभर में उसकी निंदा हुई। इधर सोमवार को भारत सरकार ने 59 चीनी ऐप को बैन कर बड़ा झटका दिया, इसके बाद अब अमेरिका ने भी कदम उठाया है।

 

यह पढ़ें…चीन की शातिर चाल, अब हांगकांग और सिंगापुर के जरिए शुरू किया ये खेल

 

 

इन दो पर यूएसए में बैन

चीन की दो कंपनियों को अमेरिका ने अपनी सुरक्षा के लिए खतरा कहा है, जिसमें हुवई(Huawei) टेक्नोलॉजी और जेटीई( ZTE) कॉर्प हैं। अब अमेरिका में इन दोनों कंपनियों पर बैन लगा दिया है।

मंगलवार को 5-0 की वोटिंग के आधार पर अमेरिका के फेडरल कम्युनिकेशन कमिशन ने इन कंपनियों को देश के लिए खतरनाक बताया। अमेरिकी सरकार ने इन कंपनियों से करार भी किया हुआ था, इसमें 8.3 बिलियन डॉलर का सामान खरीदना था, लेकिन अब इसपर भी रोक लग गई है।

भारत में भी संकट बरकरार

बता दें कि भारत में भी (Huawei) पर संकट बरकरार है, बीते दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल की हुई बैठक में इस मसले पर चर्चा हुई। जिसमें 5जी नेटवर्क आवंटन में ये कंपनी दावेदार है, लेकिन अब इसपर रोक लग सकती है।

कम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान

मंगलवार को अपने एक बयान में अमेरिका ने कहा कि हम चीनी कंपनी को हमारे नेटवर्क शेयर नहीं कर सकते हैं, जिससे हमारे कम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर को नुकसान पहुंच पाए। हालांकि, अभी तक इस फैसले पर दोनों कंपनियों का कोई बयान सामने नहीं आया है।

 

यह पढ़ें….गोविंदा ने कहा- भगवान भरोसे हैं मजदूर, सुशांत की मौत पर कह दी ऐसी बात

 

 

सुरक्षा के लिए खतरा

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल मई में एक आदेश पारित किया था। जिसके अनुसार, जो भी कंपनी देश की सुरक्षा के लिए खतरा है उनके साथ किसी तरह की टेलिकम्युनिकेशन का बिजनेस नहीं किया जाएगा।

अमेरिका की ओर से अन्य देशों से भी कहा जा रहा है कि वे इसके साथ काम ना करें, क्योंकि ये सुरक्षा के लिए खतरा है।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।