Top

अमेरिका की शर्मनाक करतूत: जबरदस्ती डाला पाइप, बहता रहा शख्स का खून

शरण मांग रहे नागरिक के साथ ऐसा बर्ताव किया गया कि खून के जरिए बही उसकी मांग। अमेरिका में शरण के लिए मांग कर रहे एक भारतीय नागरिक ने दावा किया हैं कि उसे अमेरिका के हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर रहते समय पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 16 Aug 2019 10:11 AM GMT

अमेरिका की शर्मनाक करतूत: जबरदस्ती डाला पाइप, बहता रहा शख्स का खून
X
अमेरिका की शर्मनाक करतूत: जबरदस्ती डाला पाइप, बहता रहा शख्स का खून
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : शरण मांग रहे नागरिक के साथ ऐसा बर्ताव किया गया कि खून के जरिए बही उसकी मांग। अमेरिका में शरण के लिए मांग कर रहे एक भारतीय नागरिक ने दावा किया हैं कि उसे अमेरिका के हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर रहते समय पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया।

वकील लिंडा कोर्चाडो ने बताया कि उनके एक क्लाइंट ने संदेश भेजा, "आज मेडिकल कर्मियों ने मुझे जबरदस्ती खाना खिलाया। उसने बताया कि उन्होंने तीन बार मेरी नाक में पाइप डाली। मेरी नाक से खून बह रहा है और दर्द हो रहा है।"

यह भी देखें... अनुच्छेद 370 के बाद अमेरिका ने पाक को दिया एक और झटका, अब चला ये दांव

उन्होंने कहा कि उन्हें आशंका है कि यह तब हुआ होगा जब एक हिरासत केंद्र में भूख हड़ताल पर बैठे उनके क्लाइंटो को दो हफ्ते पहले आईवी ड्रिप से जबरदस्ती खाना खिलाने की कोशिश की गई।

वकील ने गुरूवार को बताया कि देश में शरण मांग रहे भारत के लोगों में से एक को उनके पास व्हीलचेयर पर लाया गया। उनकी नाक में पाइप डाले गए थे और उसने उन्हें जबरदस्ती खाना खिलाए जाने के बारे में बताया। लिंडा कोर्चाडो ने कहा, "उन्होंने बताया कि यह तकलीफदेह और डरावना अनुभव था। यहां तक कि जब मैंने भी बात की तो वह परेशान दिखा।"

यह भी देखें... कश्मीर को धमकी: जिहाद के नाम पर बड़ी साजिश, इकठ्ठा हो रहे आंतकी

आव्रजन एवं सीमा शुल्क प्रवर्तन विभाग ने इसपर टिप्पणी से इनकार कर दिया है। जनवरी में अल पासो प्रोसेसिंग सेंटर में नौ लोगों को पाइप के जरिए जबरदस्ती खाना खिलाया गया था। अब बस देखने वाली बात ये है कि अमेरिका की इस करतूत पर भारत सरकार की ओर से क्या प्रतिक्रिया आती है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story