कोरोना संकट:फेल हो गया US, देश में दुनिया के सबसे ज्यादा मरीज, 1 दिन में 345 मौत

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कहर से पूरी दूनिया त्राहिमाम कर रही है। संक्रमितों की संख्या करीब छह लाख हो चुकी है, जबकि मरने वालों की संख्या 27 हजार से अधिक है। वहीं, एक लाख 32 हजार से अधिक लोगों ने इस वायरस को हराते हुए नई जिंदगी पाई है।

Published by suman Published: March 28, 2020 | 10:14 am
Modified: March 28, 2020 | 10:25 am

जयपुर: चीन से शुरू हुआ कोरोना वायरस दुनिया भर में फैल चुका है। इसने पहले इटली फिर स्पेन में कहर ढाया और अब अमेरिका में। इसके मामले चीन  से भी ज्यादा हो चुके हैं और अमेरिका अब कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित लोगों वाला देश बन गया है।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कहर से पूरी दूनिया त्राहिमाम कर रही है। संक्रमितों की संख्या करीब छह लाख हो चुकी है, जबकि मरने वालों की संख्या 27 हजार से अधिक है। वहीं, एक लाख 32 हजार से अधिक लोगों ने इस वायरस को हराते हुए नई जिंदगी पाई है।  कोरोना वायरस इटली और स्पेन में तो कहर बरपाने के बाद अब अमेरिका में विनाशक बन गया है। अमेरिका में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की चपेट में आकर 345 लोगों की मौत हो गई है, जबकि यहां 18000 नये मामले सामने आए हैं। इस लिहाज से अमेरिका में हर मिनट में लगभग 13 कोरोना के नये मरीज सामने आ रहे हैं।

 

यह पढ़ें…इन खिलाड़ियों ने कोरोना वायरस के खिलाफ छेड़ी जंग, करेंगे वाहवाही

इसी के साथ अमेरिका में कोरोना से संक्रमित कुल मरीजों की संख्या 100000 पार कर गई है। इसी के साथ ही अमेरिका ने कोरोना केस के मामले में चीन, इटली और स्पेन को पीछे छोड़ दिया है। समाचार एजेंसी एएफपी ने जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के हवाले से कहा कि अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 18000 कोरोना वायरस के नये मामलों की पुष्टि हुई है। जबकि यहां 345 लोगों की मौत 24 घंटे में हुई है।  जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी का ही ट्रैकर बताता है कि अमेरिका में अब दुनिया के सबसे ज्यादा ज्ञात कोरोना वायरस के मरीज हैं। इस ट्रैकर के मुताबिक अमेरिका में ताजा आंकड़ों के मुताबिक 1,04,007 कोरोना के मरीज हैं। जबकि यहां अबतक 1693 लोगों की मौत हो चुकी है। इन आंकड़ों के साथ ही अमेरिका अब कोरोना से प्रभावित दुनिया का सबसे बड़ा देश है। अमेरिका में अब इटली से 15000 और चीन से 20000 हजार ज्यादा मामले हैं। हालांकि इटली के मुकाबले अमेरिका में मृत्यु दर कम है। अमेरिका का कभी न सोने वाला शहर न्यूयॉर्क इन दिनों कोरोना का केंद्र बन गया है। यहां पर कोरोना के सबसे ज्यादा केस हैं। एक आंकड़े के मुताबिक अमेरिका के आधे से ज्यादा कोरोना पेशेंट न्यूयॉर्क में हैं। न्यूयॉर्क में अबतक 500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

यह पढ़ें…लॉकडाउन में बीजेपी नेता ने ऐसे की शादी, हर तरफ हो रही तारीफ

दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश के इस शहर में भी अब इटली जैसी स्थिति पैदा हो रही है। अस्पताल में बेड की कमी है। मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टरों के पास सुरक्षा उपकरण और वेंटिलेटर की किल्लत पैदा हो रही है। हॉर्वर्ड में हेल्थ पॉलिसी के प्रोफेसर थॉमस साई ने कहा कि यहां केस लगातार बढ़ रहे हैं, अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या बढ़ रही है। आईसीयू में लोग बढ़ते जा रहे हैं, वेंटिलेटरों की जरूरत लगातार बढ़ रही है। अमेरिकी प्रशासन ने इन चुनौतियों के बीच कोरोना से निपटने के लिए तैयारी तेज कर दी है।

 

यह पढ़ें…कोरोना इफेक्ट : आखिर क्या है इन दवाओं में, जो जगाती हैं उम्मीद?

अमेरिका में संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक लाख से अधिक हो गई है, यहां अब तक 1500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।कोरोना की वजह से अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 18000 नए मामले सामने आए हैं, वहीं समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक एक दिन में 345 लोगों की मौतें हुई हैं। गूगल ने कोरोना वायरस से जंग में मदद के लिए स्वास्थ्य संस्थानों और वैज्ञानिकों को 80 करोड़ की सहायता देने की घोषणा की है।