यहां सुधरे हालात: 24 घंटे में सिर्फ 1 मौत, ड्रोन से रखी जा रही लोगों पर नज़र

आस्ट्रेलिया में मार्च महीने तक रोजाना 400 से ज्यादा केस सामने आते थे वहा अब पिछले 24 घंटे में सिर्फ 4 मामले सामने आए हैं। वहीं सिर्फ 1 मौत हुई है

पूरी दुनिया इस समय वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रही है। पिछले कुछ महीनों से इस वायरस ने पूरी दूनिया में हाहाकार मचा रखा है। ऐसे में आस्ट्रेलिया में पिछले 24 घंटे में सिर्फ 4 केस ही कोरोना वायरस के सामने आए हैं। ऐसे में ये एक बेहद चौंकाने वाली बात है। कि जिस आस्ट्रेलिया में मार्च महीने तक रोजाना 400 से ज्यादा केस सामने आते थे वहा अब पिछले 24 घंटे में सिर्फ 4 मामले सामने आए हैं। आस्ट्रेलिया ने आखिर ये कैसे किया ये सवाल सबके दिमाग में चल रहा है।

पिछले 24 घंटे में सिर्फ 1 मौत

आस्ट्रेलिया में पूरे देश भर में टेस्टिंग के बाद भी पिछले 24 घंटे में 12 हजार और टेस्ट किए गए। आस्ट्रेलिया लगातार कोरोना वायरस से जूझ रहा है। लेकिन पिछले 24 घंटों में यहां का हाल कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है। आस्ट्रेलिया में कोरोना वायरस के 6,661 मामले मौजूद हैं। जबकि देश में अब तक पांच हजार से ज्यादा मरीज ठीक हो चुके हैं। लेकिन फिर भी देश में नए मामलों में लगातार कमी देखने को मिल रही है। देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना से सिर्फ 1 ही मरीज की जान गई है। आस्ट्रेलिया के उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी पॉल कैली ने बताया कि अगले तीन हफ़्तों में देश में स्थिति बिलकुल सामान्य हो जायेगी।

ये भी पढ़ें-   1200 जमाती फरार: खतरा बढ़ने के आसार, जारी हुआ अलर्ट

आस्ट्रेलिया में मामलों की संख्या में लगातार कमी आने की प्रमुख वजह आस्ट्रेलिया द्वारा अपनाए गए विभिन्न कड़े उपाय हैं। देश में 23 मार्च को लॉकडाउन लागू होने के बाद ड्राइव थ्रू टेस्ट शुरू किया गया था। जिसके द्वारा कुछ बूथ बनाये गए जहां फ्री टेस्टिंग होती है। इसके अलावा आस्ट्रेलिया सरकार द्वारा एक ऐप शुरू की गई जिसकी मदद से यहाँ पता लगता है कि कौन व्यक्ति किस समय कोरोना संक्रमित से मिला। देश में हर 10 लाख लोगों पर 20 हजार की जांच की गई।

महामारी ड्रोन से रखी जा रही नजर

आस्ट्रेलिया की इस जानलेवा वायरस के प्रति गंभीरता इसी से पता चलती है कि आस्ट्रेलिया में पूरे देश में भीड़ में छींकने वालों पर ड्रोन से लगातार नज़र रखी जा रही है। इस ड्रोन को महामारी ड्रोन कहा जाता है। देश में वायरस से लोगों की जान बचाने वाले स्वास्थ्य और सुरक्षाकर्मियों को छह हफ्तों में 10 करोड़ मास्क और सुरक्षा किट दी गईं। देश में इतनी सख्ती है कि विदेश से आने वाले हर इन्सान को अनिवार्य रूप से दो हफ्ते यानी 14 दिन के लिए क्वारंटाइन किया जाता है। देश में चालु किए गए महामारी ड्रोन एयरपोर्ट, स्टेशन, क्रूज शिप और ऑफिस में छींकने-खांसने वाले लोगों की पहचान करते हैं।

ये भी पढ़ें-  लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो सेवा शुरू करने की तैयारी, होगी 12 हजार CISF जवानों की तैनाती

आस्ट्रेलिया में भारत की त्तारह लॉकडाउन का उल्लंघन नहीं किया जाता है। यहां के कायदे और नियम काफी सख्त हैं। देश में लॉकडाउन के पहले दिन ही एक व्यक्ति को पार्क में खाना खाने पर 50 हजार का जुर्माना देना पड़ा। इसके अलावा पिछले हफ्ते विक्टोरिया के महापौर टोनी हर्बर्ट पर 78 हजार रुपये का जुर्माना लगाया गया क्योंकि वह सामाजिक दूरी को भूलकर सड़क किनारे बीयर पी रहे थे। इन सब सख्त नियमों के चलते ही आस्ट्रेलिया आज अपनी स्थिति में इतना सुधार कर पाया है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App