×

चीन-नेपाल से टेंशन के बीच भारत को भूटान ने दी राहत, कही ये बड़ी बात

असम में भूटान ने अपनी तरफ से नदियों का पानी रोके जाने की खबरों को खंड़न किया है। भूटान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है और भारत को आश्वस्त किया है।

Dharmendra kumar
Updated on: 26 Jun 2020 6:41 PM GMT
चीन-नेपाल से टेंशन के बीच भारत को भूटान ने दी राहत, कही ये बड़ी बात
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत के पड़ोसी देश इन दिनों सीमा पर मुश्किलें बढ़ा रहे हैं। पाकिस्तान तो पहले ही लगातार बॉर्डर पर भारत के लिए मुश्किलें पैदा कर रहा है लेकिन अब एक चीन के सैनिकों संग तनाव और LAC विवाद बढ़ता जा रहा है तो दूसरी ओर नेपाल संसद में विवादित मैप पास होने के बाद भारत और नेपाल के रिश्तों में भी खट्टास आ गयी। हालांकि इन सबके बीच भूटान ने भारत को राहत भरी खबर दी है।

असम में भूटान ने अपनी तरफ से नदियों का पानी रोके जाने की खबरों को खंड़न किया है। भूटान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है और भारत को आश्वस्त किया है। भूटान के विदेश मंत्रालय ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज से स्पष्टीकरण जारी किया है। भूटान की तरफ से इसमें कहा गया है कि ये परेशान करने वाला आरोप है और विदेश मंत्रालय स्पष्ट करना चाहेगा कि इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। इस मुश्किल वक्त में पानी रोकने की कोई वजह ही नहीं है। भूटान और असम के दोस्तों के बीच गलतफहमी पैदा करने के लिए ऐसी सूचनाएं फैलाई जा रही हैं।

यह भी पढ़ें...कुलगाम में आतंकी हमला: पुलिस पोस्ट पर फेंका ग्रेनेड, पुलिसकर्मियों की हालात ऐसी…

भूटान सरकार की तरफ से कहा गया है कि असम के बक्शा और उदलगिरी जिले कई सालों से भूटान के पानी का इस्तेमाल करते आ रहे हैं और जब हम कोरोना महामारी का सामना कर रहे हैं और एक मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं तो भी ये सहयोग जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें...रोटी-बेटी के रिश्तों में चीनी दीवार

भूटान के विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि कोरोना वायरस महामारी में लागू प्रतिबंधों की वजह से असम के किसान भूटान में प्रवेश नहीं कर पा रहे हैं जिससे उन्हें सिंचाई के लिए पानी लाने में दिक्कतें हो रही हैं, लेकिन असम के किसानों की मुश्किलों को देखते हुए समद्रूप जोंगखार जिले के अधिकारियों और लोगों ने सिंचाई चैनलों की मरम्मत का काम शुरू कर दिया है ताकि असम की तरफ पानी के बहाव में कोई समस्या ना हो।

यह भी पढ़ें...मेड इन चाइना को गुड बॉय कहना आसान नहीं

असम के चीफ सेक्रटरी कुमार संजय कृष्ण ने कहा कि सिंचाई का पानी भूटान की पहाड़ियों से बहकर असम में आता है, लेकिन रास्ते में कुछ पत्थरों की वजह से बहाव रुक गया था। हमने भूटान से बातचीत की और तुरंत रास्ता क्लियर कराया। इसे लेकर कोई विवाद नहीं है और ये कहना गलत है कि भूटान ने असम की तरफ आने वाला पानी रोक दिया।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story