×

दक्षिण एशियाई लोगों में हृदय संबंधी बीमारियों से निपटने के लिए पेश किया गया विधेयक

जयपाल (53) ने विधेयक पेश करते हुए कहा, ‘‘दक्षिण एशियाई समुदाय में हृदय संबंधी बीमारियां तेजी से असंगत तरीके से बढ़ रही हैं। हमारे विधेयक के तहत इस परिस्थिति का समाधान तलाशने की खातिर अनुसंधान एवं विश्लेषण के लिए निधि मुहैया कराई जाएगी और इससे अंतत: लोगों का जीवन बचेगा।’’

PTI
By PTI
Updated on: 6 Jun 2019 4:43 AM GMT
दक्षिण एशियाई लोगों में हृदय संबंधी बीमारियों से निपटने के लिए पेश किया गया विधेयक
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वॉशिंगटन: कांग्रेस की भारतीय-अमेरिकी सदस्य प्रमिला जयपाल ने अमेरिका की प्रतिनिधि सभा में एक द्विदलीय विधेयक पेश किया जिसका मकसद भारतीयों समेत दक्षिण एशियाई समुदाय में चिंताजनक दर से बढ़ रहीं हृदय संबंधी बीमारियों के बारे में जागरुकता पैदा करना और इन्हें रोकने के लिए कदम उठाना है।

ये भी देंखे:भारत दौरे पर पाकिस्तान के विदेश सचिव, लग रही हैं ये अटकलें

कांग्रेस के रिपब्लिकन सदस्य जो विल्सन ने ‘साउथ एशियन हार्ट हेल्थ अवेयरनेस एंड रिसर्च एक्ट’ विधेयक को सह प्रायोजित किया है।

जयपाल (53) ने विधेयक पेश करते हुए कहा, ‘‘दक्षिण एशियाई समुदाय में हृदय संबंधी बीमारियां तेजी से असंगत तरीके से बढ़ रही हैं। हमारे विधेयक के तहत इस परिस्थिति का समाधान तलाशने की खातिर अनुसंधान एवं विश्लेषण के लिए निधि मुहैया कराई जाएगी और इससे अंतत: लोगों का जीवन बचेगा।’’

‘अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी’ के अध्यक्ष रिचर्ड कावोक्स के अनुसार अमेरिका में रह रहे दक्षिण एशियाई लोगों में अमेरिकी लोगों की तुलना में हृदय संबंधी बीमारियों से मरने का खतरा अधिक है।

ये भी देंखे:‘महात्मा गांधी ने पर्यावरण की समस्या को तभी समझ लिया था जब किसी को इसकी चिंता नहीं थी’

अध्ययनों में यह दिखाया गया है कि भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश, श्रीलंका और नेपाल समेत दक्षिण एशियाई देशों से अमेरिका आए लोगों में हृदय संबंधी बीमारियों में बहुत तेजी आई है। उन पर आम जनसंख्या की तुलना में हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा चार गुणा अधिक है।

(भाषा)

PTI

PTI

Next Story