×

पुतिन, ट्रंप, मुस्लिमों समेत 2020 की ये चौंकाने वाली भविष्यवाणी, मचेगी भीषण तबाही

साल 2020 का आगाज होने में बस कुछ ही दिन बाकी है। ऐसे कई ऐसी भविष्यवाणियां सामने आई है जो लोगों को डराती हैं। बुल्गारिया के भविष्यवक्ता बाबा वेन्गा ने 2020 को लेकर चौंकाने वाली कई भविष्यवाणियां की हैं।

Dharmendra kumar
Updated on: 24 Dec 2019 3:00 PM GMT
पुतिन, ट्रंप, मुस्लिमों समेत 2020 की ये चौंकाने वाली भविष्यवाणी, मचेगी भीषण तबाही
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: साल 2020 का आगाज होने में बस कुछ ही दिन बाकी है। ऐसे कई ऐसी भविष्यवाणियां सामने आई है जो लोगों को डराती हैं। बुल्गारिया के भविष्यवक्ता बाबा वेन्गा ने 2020 को लेकर चौंकाने वाली कई भविष्यवाणियां की हैं। बाबा वेन्गा का असली नाम वेंगेलिया पांडेवा दिमित्रोवा था।

उनका जन्म 1911 में हुआ था और 1966 में उनकी मौत हो गई थी। 12 साल की उम्र में बाबा वेन्गा ने अपनी आंखें खो दी थीं। इसके बाद ही उनको एहसास हुआ कि ईश्वर ने उन्हें चीजों को पहले ही देख लेने की एक शक्ति प्रदान की है।

बाबा वेन्गा ने अपनी मौत से पहले 85 साल की उम्र में 2020 के लिए कई चौंकाने वाली भविष्यवाणियां की हैं। उनकी भविष्यवाणियों को विश्लेषकों ने बाबा वेंगा की संकेतों में दी गई प्रमुख भविष्यवाणियों की व्याख्या की है।

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर! इस राज्य के मुख्यमंत्री पर हुआ हमला, बाल बाल बचे CM

बाबा वेन्गा के मुताबिक यूरोप में 2020 में मुस्लिम कट्टरपंथी अपने चरम पर होंगे। उनकी भविष्यवाणी के मुताबिक यूरोप में रासायनिक हमले की भी चेतावनी दी गई है। बाबा वेन्गा का यह भी दावा है कि इस दौरान यूरोपीय महाद्वीप का अस्तित्व अपने अंत के करीब पहुंच सकता है।

वेन्गा ने 2020 में यूरोप के आर्थिक पतन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के खिलाफ हत्या के प्रयास की भी भविष्यवाणी की है। उन्होंने बताया कि पुतिन के लिए खतरा उनके देश के भीतर से ही आ सकता है।

भविष्यवक्ता वेन्गा के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को कोई रहस्यमय बीमारी हो सकती है जिसकी वजह से वो बहरे हो सकते हैं और इसका असर उनके दिमाग पर भी पड़ेगा। वेन्गा के मुताबिक 2020 में पूरी दुनिया में उथल-पुथल मची रहेगी। प्रलय और आपदाएं जैसी कई स्थितियां उत्पन्न होंगी। लोगों की मानसिकता में परिवर्तन देखने को मिलेगा।

यह भी पढ़ें...मोदी नहीं शाह बनेंगे प्रधानमंत्री! जब बीजेपी की सरकार आएगी 2024 में

वेन्गा की भविष्यवाणी के मुताबिक 2020 में मुश्किल वक्त आएगा और लोगों को उनके धर्म के आधार पर विभाजित किया जाएगा। मौजूदा हालात में इसे जोड़ कर देखें तो भारत सहित पूरी दुनिया में कई तरह के घटनाक्रम हो रहे हैं। उनकी भविष्यवाणी के मुताबिक 2020 में ऐसी कई विनाशकारी घटनाएं होंगी जो मानवता तक को बदल देंगी और लोग सिर्फ खुद के बारे में ही सोचना शुरू कर देंगे।

भविष्यवाणी के मुताबिक 2020 में ब्रह्मांड में जीवन की खोज की जाएगी और ये पता चलेगा कि आखिर पृथ्वी पर जीवन पहली बार कैसे आया। भविष्यवाणी में ये भी कहा गया है कि आने वाले 200 वर्षों में लोग अध्यात्म के जरिए दूसरी दुनिया के संपर्क में आएंगे।

2020 में पृथ्वी को थोड़ी राहत मिलेगी और पेट्रोल का उत्पादन बंद हो जाएगा। ट्रेनें सूर्य की रोशनी से दौड़ेंगी। 2020 में सौर ऊर्जा पर बहुत काम किया जा रहा है, इसलिए वेन्गा की भविष्यवाणी को इससे भी जोड़कर देखा जा सकता है।

यह भी पढ़ें...एनपीआर के बारे में जानिए सब कुछ, क्या हैं उद्देश्य, चर्चा में क्यों

वेन्गा के मुताबिक 2020 में तीन दिग्गज देश एक साथ आएंगे और पूरी दुनिया पर इनका राज होगा। वेन्गा की भविष्यवाणी में कहा गया है कि 2020 में चीन एक महाशक्ति के रूप में उभरेगा और ये तीन दिग्गज रूस, भारत और चीन हो सकते हैं। इनमें से दो शक्तिशाली देशों के कुछ लोगों के पास लाल रंग की करेंसी होगी। वेंगा की इस भविष्वाणी को चीन की 100 युआन और रशिया के 5000 रूबल से जोड़कर देखा जाता है।

बाबा वेन्गा की अब तक की सच हुईं भविष्यवाणियां

बाबा वेन्गा ने कई तरह की भविष्यवाणियां की थीं जिनमें से ज्यादातर अब तक सच हो चुकी हैं। इनमें अब तक सोवियत संघ का विघटन, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर 11 सितंबर 2001 को हुआ हमला, राजकुमारी डायना की मृत्यु और प्राकृतिक आपदा जैसी कुछ चीजें उन्होंने होने से पहले ही देख ली थीं।

यह भी पढ़ें...गृह मंत्री अमित शाह ने NPR और NRC पर दिया बड़ा बयान

-अमेरिका का 44वां राष्ट्रपति अफ्रीकी-अमेरिकी होगा और बराक ओबामा अमेरिकी राष्ट्रपति बने।

-जार बोरिस- 3 (1918-1943 तक बुल्गारिया के किंग ) की मौत की तारीख।

-चेकोस्लोवाकिया का अलग होना।

-लेबनान में दंगे (1968)।

-निकारागुआ में युद्ध (1979)।

-साइप्रस विवाद (1974)।

-इंदिरा गांधी का पीएम बनना और उनकी हत्या।

-सोवियत यूनियन का विघटन।

-यूगोस्लोवाकिया का अलग होना।

-पूर्वी और पश्चिमी जर्मनी का एक साथ मिलना।

-स्टालिन की मौत की तारीख।

-सीरिया में सिविल वॉर।

-क्रीमिया का अलग होना।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story