×

बम धमाके से दहला अफगानिस्तान: कई लोगों की मौत, चारों तरफ बिखरीं लाशें

हेरात प्रांत अस्पताल के प्रवक्ता रफीक शेरजई ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि घायल लोगों में कुछ की हालत गंभीर है जिससे मृतकों संख्या बढ़ सकती है। इस विस्फोट में 14 घरों को भी भारी नुकसान पहुंचा है।

Newstrack
Updated on: 13 March 2021 6:55 AM GMT
बम धमाके से दहला अफगानिस्तान: कई लोगों की मौत, चारों तरफ बिखरीं लाशें
X
बम धमाके से दहला अफगानिस्तान: आठ लोगों की मौत, चारों तरफ बिखरीं लाशें
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

काबुल: अफगानिस्तान में आतंकियों का खूनी खेल जारी है। आतंकी आए दिन बम धमाके कर रहे हैं और लोगों की हत्या कर रहे हैं। अब देश के पश्चिमी हेरात प्रांत में कार बम धमाका हुआ है जिसमें कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई, तो वहीं 47 लोग घायल बताए जा रहे हैं।

हेरात प्रांत अस्पताल के प्रवक्ता रफीक शेरजई ने शनिवार को इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि घायल लोगों में कुछ की हालत गंभीर है जिससे मृतकों संख्या बढ़ सकती है। इस विस्फोट में 14 घरों को भी भारी नुकसान पहुंचा है।

अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक अरियान का कहना है कि एक बच्चे समेत 8 लोगों की मौत हुई है। इस हमले में अफगान सुरक्षा बल के 11 जवान भी घायल हो गए हैं। इस बम ब्लास्ट की अभी तक किसी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

ये भी पढ़ें...इटली में कोरोना का तांडव: नई लहर के बाद लॉकडाउन, सरकार ने सब कुछ किया बंद

Bomb Blast

धमाके के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) ने बयान जारी किया है। यूएनएससी ने इस हमले की कड़ी निंदा की है और कहा है कि अफगानिस्तान सरकार और तालिबान के बीच कतर में दोबारा बातचीत शुरू होने के बावजूद वहां हमले किए जा रहे हैं। आम नागरिकों को निशाना बनाकर हो रहे हमले ‘खतरे की घंटी’ है।

यूएनएससी का कहना है कि प्रशासनिक एवं न्यायिक सेवा, मीडिया, स्वास्थ्य सेवा में कार्यकर्ताओं एवं मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को निशाना बनाकर हमला किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें...चीन पर बनी रहेगी सख्त निगाहें, क्वाड की बैठक में जो बाइडन दिए संकेत

मजदूरों और महिला डाॅक्टरों की हत्या

इससे पहले हुए बम धमाके में 8 मजदूरों की मौत हो गई थी जबकि तीन महिला डाॅक्टरों की हत्या कर दी गई थी। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने महिला डाॅक्टरों की हत्या की जिम्मेदारी ली थी। आतंकवादी संगठन ने कहा था कि उसके लड़ाकों ने एक महिला डाॅक्टर के वाहन पर रखे एक चिपचिपे बम में विस्फोट किया। आतंकियों ने कहा था कि महिला ने पूर्वी नंगरहार प्रांत की राजधानी जलालाबाद में अफगान खुफिया सेवा के लिए काम की थी।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story