×

डरावनी परछाइयों का सच: 300 सालों से बना है रहस्य, आज तक दिखते हैं डार्क वॉचर्स

आमतौर पर ये डार्क वॉचर्स (Dark Watchers) दोपहर या फिर अंधेरा होने से पहले दिखाई देते हैं। ये कैलिफोर्निया के सैंटा लूसिया माउंटेंस पर देखे जाते हैं। इन पहाड़ियों पर जो लोग हाइकिंग के लिए गए या जाते रहे हैं, उन्होंने इनके बारे में कई बार रिपोर्ट दी है।

Shreya
Updated on: 16 March 2021 6:05 AM GMT
डरावनी परछाइयों का सच: 300 सालों से बना है रहस्य, आज तक दिखते हैं डार्क वॉचर्स
X
डरावनी परछाइयों का सच: 300 सालों से बना है रहस्य, आज तक दिखते हैं डार्क वॉचर्स
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कैलीफोर्निया: अमेरिका के कैलिफोर्निया में ऐसी कई सारी परछाइयां हैं, जो बीते 300 सालों से रहस्य बनी हुई हैं। इन परछाइयों के रहस्य को अब तक कोई भी नहीं सुलझा पाया है। जिन परछाइयों के बारे में हम बात करने जा रहे हैं, वो हैट और जैकेट जैसे लबादे में सैंटा लूसिया माउटेंस पर घूमती नजर आती हैं। कभी कभी तो ये लोगों की ओर जाती और कई बार आसमान में उड़ती हुई नजर आती हैं।

300 साल से दिखते हैं ये डार्क वॉचर्स

सैंटा लूसिया माउटेंस (Santa Lucia Mountains) पर दिखने वाली ये परछाइयां कुछ सेकेंड तक ही नजर आती हैं और उसके बाद ये गायब हो जाती हैं। इन्हें बीते 300 सालों से इस पहाड़ पर जाने वाले हाइकर्स देख रहे हैं। बता दें कि ये परछाइयां को कैलिफोर्निया में डार्क वॉचर्स (Dark Watchers) कही जाती हैं। ये धुंधले दिखाई देते हैं। कभी कभी ये दस फीट लंबे और ज्यादातर टोपी लगाए व जैकेट पहने हुए दिखते हैं।

यह भी पढ़ें: भारत आ रहे ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन, पहला दौरा हो चुका रद्द, इस बार होगा खास

नहीं पहुंचाते लोगों को नुकसान

आमतौर पर ये डार्क वॉचर्स (Dark Watchers) दोपहर या फिर अंधेरा होने से पहले दिखाई देते हैं। ये कैलिफोर्निया के सैंटा लूसिया माउंटेंस पर देखे जाते हैं। इन पहाड़ियों पर जो लोग हाइकिंग के लिए गए या जाते रहे हैं, उन्होंने इनके बारे में कई बार रिपोर्ट दी है। हालांकी इन डार्क वॉचर्स ने किसी को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है। बीते 300 साल से हाइकर्स इन परछाइयों को देख व महसूस कर रहे हैं।

Santa Lucia Mountains (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

अमेरिकन राइटर ने भी किया था महसूस

बताया जाता है कि प्रसिद्ध अमेरिकन लेखक जॉन स्टीनबेक (John Steinbeck) ने भी डार्क वॉचर्स को देखा और महसूस किया था। यही नहीं उन्होंने 1938 में अपनी कहानी 'फ्लाइट' में इन परछाइयों का जिक्र किया था। उन्होंने लिखा था कि कोई नहीं जानता कि ये डार्क वॉचर्स कहां से आते हैं और कौंन है? इनका इतिहास क्या है? ये कहां रहते हैं? लेकिन अच्छा यहीं है कि आप उन्हें नजरअंदाज करें और उनमें रुचि नहीं दिखाएं।

यह भी पढ़ें: एस्ट्राजेनेका के इस्तेमाल पर रोक, मचा हाहाकार, WHO ने 4 देशों से की बड़ी अपील

क्या कहते हैं मानसिक एक्सपर्ट?

वहीं, कुछ मानसिक एक्सपर्ट का कहना है कि ये डार्क वॉचर्स (Dark Watchers) जैसी कोई चीज नहीं होती है। ये केवल पहाड़ पर रोशनी और अंधेरे की वजह से बनने वाली आकृतियों को लोग डरावनी परछाइयां समझ लेते हैं। एक्सपर्ट्स मानते हैं तो ये केवल लोगों के दिमाग का वहम है। मानसिक एक्सपर्ट इसे पैरीडोलिया (Pareidolia) का केस बताते हैं।

यह भी पढ़ें: कराची में ब्लास्ट: आतंकियों ने पाकिस्तानी सेना को बनाया निशाना, एक जवान की मौत

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story