युद्ध चीन-ऑस्ट्रेलिया में: इस हथकंडे से बना रहा अपना शिकार, अब चली ये चाल

दोनों देशों चीन और ऑस्ट्रेलिया में ट्रेड वॉर यानी व्यापार युद्ध छिड़ा हुआ है। ऐसे में चीन ने अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे बड़ा कदम उठाया है। इस दौरान चीन के वाणिज्य विभाग ने शुक्रवार को कहा है कि वह अस्थायी तौर पर ऑस्ट्रेलिया की वाइन की डंपिंग रोकने के लिए भारी-भरकम टैक्स लगाएगा।

china

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली। बीते कुछ समय से दोनों देशों चीन और ऑस्ट्रेलिया में ट्रेड वॉर यानी व्यापार युद्ध छिड़ा हुआ है। ऐसे में चीन ने अब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सबसे बड़ा कदम उठाया है। इस दौरान चीन के वाणिज्य विभाग ने शुक्रवार को कहा है कि वह अस्थायी तौर पर ऑस्ट्रेलिया की वाइन की डंपिंग रोकने के लिए भारी-भरकम टैक्स लगाएगा। ऑस्ट्रेलियाई वाइन पर टैक्स 107.1 प्रतिशत से लेकर 212.1 प्रतिशत तक हो सकता है। साथ ही चीन ने ऑस्ट्रेलियाई वाइन को लेकर कहा कि डंपिंग का सीधा मतलब है कि सामान की गुणवत्ता में समझौता किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें… कांप उठी चीनी सेना: अमेरिका से आई ताकतवर चीज, अब क्या करेंगे सारे दुश्मन देश

चीन ने कड़ी आपत्ति जाहिर की

china
फोटो-सोशल मीडिया

दरअसल अमेरिका और यूरोपीय देशों के साथ-साथ ऑस्ट्रेलिया ने भी दुनियाभर में महामारी कोरोना वायरस के फैलने की अंतरराष्ट्रीय जांच की मांग की थी, जिसके लिए चीन ने कड़ी आपत्ति जाहिर की थी।

साथ ही ऑस्ट्रेलिया ने हॉन्ग कॉन्ग को लेकर भी चीन के अड़ियल रवैये की आलोचना की थी। वहीं एशिया-पैसेफिक में अमेरिका के नेतृत्व में चीन के खिलाफ बने गठबंधन (QUAD) भारत, जापान के अलावा ऑस्ट्रेलिया भी शामिल है। जो चीन को पूरी तरह से नागवारा है।

wine
फोटो-सोशल मीडिया

बात ये है कि चीन ऑस्ट्रेलिया के अहम व्यापारिक साझेदारों में से एक है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया अपनी वाइन का सबसे ज्यादा निर्यात चीन को ही करता है। अब वाइन ऑस्ट्रेलिया समूह के अनुसार, साल 2020 के नौ महीनों में कुल निर्यात का 39 प्रतिशत चीन को ही निर्यात किया गया है।

ये भी पढ़ें…आतंकी सुरंग से अलर्ट: भारत उड़ाने की बड़ी साजिश, चीन-पाकिस्तान की जुगलबंदी

वाइन इंडस्ट्री की कोई गलती नहीे

इसी सिलसिले में ऑस्ट्रेलिया के व्यापार मंत्री सिमन बर्मिंगम ने कहा है कि चीन के बाजार में अपनी जगह बनाने वाले तमाम ऑस्ट्रेलियाई वाइन प्रोड्यूसर्स के लिए ये बहुत ही मुश्किल वक्त है।

दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलियाई सरकार में कृषि मंत्री डेविड लिटलप्राउड ने शुक्रवार को चीन के बारे में कहा कि उनकी सरकार वाइन इंडस्ट्री की हर तरह से मदद करेगी। हम चीन के हालिया फैसले को लेकर बेहद चिंतित है। वाइन इंडस्ट्री की कोई गलती नहीे है और साफ तौर पर चीन के इस फैसले की वजह कुछ और है। हम विश्व व्यापार संगठन के जरिए हर विकल्प का इस्तेमाल करेंगे।

ये भी पढ़ें…चीन ने दोस्त पाकिस्तान को दिया धोखा: इस पर लगाई रोक, रो रहे इमरान और बाजवा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App