×

ये देश कर रहे कोरोना पर साजिश: चीन का बड़ा आरोप, बोले- केस का कोई आधार नहीं

कोरोनावायरस के मामले में चीन को पूरे विश्व में प्रबल विरोध का सामना करना पड़ रहा है। उसे कोरोना का साजिशकार माना जा रहा है। अमेरिका और यूरोप के प्रमुख देश चीन पर साजिश और मुआवजे दोनो का दबाव डाल रह हैं।

suman
Updated on: 24 May 2020 2:12 PM GMT
ये देश कर रहे कोरोना पर साजिश: चीन का बड़ा आरोप, बोले- केस का कोई आधार नहीं
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली : कोरोनावायरस के मामले में चीन को पूरे विश्व में प्रबल विरोध का सामना करना पड़ रहा है। उसे कोरोना का साजिशकार माना जा रहा है। अमेरिका और यूरोप के प्रमुख देश चीन पर साजिश और मुआवजे दोनो का दबाव डाल रह हैं। चीन की कंपनियों और चीनी कारोबार दोनों पर अंकुश लगाने की वैश्विक कोशिशें शुरू हो चुकी हैं। इस बीच भारत की कूटनीति को वैश्विक समर्थन और मजबूत होता जा रहा है।

यह पढ़ें....जारी हुआ रेड-अलर्ट: आग उगलती धूप-भीषण गर्मी, मौसम विभाग ने दी चेतावनी

ग्लोबल स्तर पर दुनिया के निशाने पर चीन है। कोरोना वायरस फैलने का जिम्मेदार चीन को बताया जा रहा है। चीन पर सबसे ज्यादा अमेरिका के निशाने पर है और अमेरिका इस महामारी के लिए लगातार चीन को ही जिम्मेदार ठहरा रहा है। ऐसे में कई देश चीन के खिलाफ इस वायरस को लेकर अंतरराष्ट्रीय कोर्ट में केस करने पर विचार कर रहे हैं।

चीन सरकार ने अब इसे लेकर पलटवार किया है। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने रविवार को कहा कि कोरोना वायरस को लेकर चीन के खिलाफ किसी भी मुकदमे का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोई भी तथ्यात्मक आधार नहीं है। वांग ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से कहा कि चीन अन्य देशों के साथ वैश्विक महामारी का शिकार था और जरूरत पड़ने पर अन्य सरकारों की सहायता भी की थी।

उन्होंने कहा, "हमें अफसोस है कि कोरोना के अलावा, अमेरिका में एक राजनीतिक वायरस भी फैल रहा है जो चीन पर हमला करने और बदनाम करने का हर मौका आजमा रहा है। वांग ने कहा, "कुछ अमेरिकी राजनेता बुनियादी तथ्यों के बावजूद, झूठ गढ़ रहे हैं और साजिश रच रहे हैं,"

यह पढ़ें....कोरोना पर पहली बार बदले चीन के सुर, वायरस की जांच के लिए तैयार मगर रखी ये शर्त

इस तरह का मुकदमा अंतरराष्ट्रीय नियम और कानून पर कुठाराघात है। मानवीय विवेक को त्याग कर ऐसा फैसला किया गया है। यह असत्य, अनुचित और गैरकानूनी है। वांग ने अप्रत्यक्ष तौर पर अमेरिका को इसके लिए सावधान करते हुए कहा कि जो लोग चीन के खिलाफ इस तरह की साजिश रच रहे हैं वो दिन में सपने देख रहे हैं और ऐसा करके खुद को ही अपमानित करेंगे। दुनिया के कई देश इस महामारी के लिए चीन को ही कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान खुलकर कोरोना को लेकर चीन पर हमलावर हैं। अमेरिका पुरज़ोर तरीके से चीन और वुहान लैब की जांच के लिए आवाज उठा रहा है।

suman

suman

Next Story