चीन तिलमिला उठा: भारत की डिजिटल स्ट्राइक से लगा झटका, अब ऐसे बड़बड़ा रहा

चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि चीनी मोबाइल ऐप्स बैन करने के लिए भारत हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा का सहारा ले रहा है, जिसका हम सख्त खिलाफ है। वहीं रोंग ने भारत से सभी चीनी ऐप्स पर लगाए गए प्रतिबंध को हटाने की बात कहा है। इसके अलावा चीन ने कहा कि आपसी दुश्मनी के को दूर रखकर विकास में एक-दूसरे का साथ दें।

चीन तिलमिला उठा: भारत की डिजिटल स्ट्राइक से लगा झटका, अब ऐसे बड़बड़ा रहा (photo- social media)

नई दिल्ली: भारत और चीन के बढ़ते तनातनी लगातार बढ़ती जा रही है। इस बीच चीन ने भारत द्वारा बैन किए गए 43 चीनी ऐप्स का कड़ा विरोध किया है। चीन ने कहा है कि चीन राष्ट्रीय सुरक्षा के तहत चीनी ऐप्स पर भारत के प्रतिबंध के सख्त खिलाफ है। चीन यह आशा करता है कि भारत समेत अन्य देश बिना भेदभाव के विश्व व्यापार संगठन के नियमों का पालन करेंगे।

43 चीनी ऐप्स बैन के बाद तिलमिला उठा चीन

भारत के 43 चीनी ऐप्स बैन किए जाने के बाद चीन तिलमिला उठा है। चीन का कहा है, “चीन राष्ट्रीय सुरक्षा के तहत चीनी ऐप्स पर भारत के प्रतिबंध के सख्त खिलाफ है और उम्मीद करता है कि भारत, चीनी दूतावास सहित सभी बाजारों को एक गैर-भेदभावपूर्ण व्यापारिक वातावरण प्रदान कर सकता है।“

यह भी पढ़ें: धमाके से हिला अफगानिस्तान: भयानक विस्फोट में उड़े दर्जनों, छाया दहशत का माहौल

india-china

भारत से बैन चीनी ऐप्स को हटाने की मांग

चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा कि चीनी मोबाइल ऐप्स बैन करने के लिए भारत हमेशा राष्ट्रीय सुरक्षा का सहारा ले रहा है, जिसका हम सख्त खिलाफ है। वहीं रोंग ने भारत से सभी चीनी ऐप्स पर लगाए गए प्रतिबंध को हटाने की बात कहा है। इसके अलावा चीन ने कहा कि आपसी दुश्मनी के को दूर रखकर विकास में एक-दूसरे का साथ दें। भारत और चीन दोनों को ही द्विपक्षीय व्यापार और आर्थिक विकास के लिए साथ मिल आगे बढ़ना होगा और इसके लिए दोनों देशों के बीच सकारात्मक सोच और माहौल दोनों की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: अमेरिका के नए विदेश मंत्री: भारत से है खास रिश्ता, कांप रहे चीन और पाकिस्तान

भारत-चीन के बीच तनातनी है जारी

बता दें कि भारत और चीन के बीच लगातार तनातनी का माहौल बना हुआ है। वहीं इस माहौल को सामान्य करने के लिए दोनों  देशों के मध्य कई बार राजनीतिक और सैन्य की बैठक भी हो चुकी है। लेकिन कोई भी सकारात्मक परिणाम नहीं आया है।

 

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App