चीन ने सीमा पर बरसाईं मिसाइलें, पहाडों पर मची हलचल, भारतीय सेना तैयार

ग्‍लोबल टाइम्‍स ने इस युद्धाभ्‍यास का एक वीडियो भी जारी किया है। इस विडियो में देख सकती है चीनी सेना अंधेरे में ड्रोन विमानों की सहायता से से हमला करती है। वीडियो में दिखाया गया है कि चीनी सेना की रॉकेट फोर्स एक साथ जोरदार हमले करती है और एक पूरे पहाड़ी इलाके को तबाह कर देती है।

Chinese Army

फोटो-सोशल मीडिया

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव चरम पर है। दोनों देशों के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन इसके बावजूद तनाव कम नहीं हो रहा है। चीनी की सेना आए नापाक हरकतें कर रही है। अब चीनी सेना ने भारतीय सीमा के पास युद्धाभ्यास किया है। यह हरकतें चीन भारत पर दबाव करने के लिए कर रहा है। भारत भी चीन को जवाब देने के लिए हर मोर्च पर तैयार।

चीन की सरकारी मुखपत्र ग्‍लोबल टाइम्‍स ने दावा किया है कि युद्धाभ्यास के दौरान लाइव फायर एक्‍सरसाइज में चीनी सेना ने 90 प्रतिशत नए हथियारों का इस्‍तेमाल किया है। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने बताया कि यह अभ्‍यास 4700 मीटर की ऊंचाई पर किया गया है। यह युद्धाभ्यास पीएलए के तिब्‍बत थिएटर कमांड की तरफ से किया गया है।

ग्‍लोबल टाइम्‍स की तरफ से इस युद्धाभ्‍यास का एक वीडियो भी जारी किया गया है। इस विडियो में देख सकती है चीनी सेना अंधेरे में ड्रोन विमानों की सहायता से से हमला करती है। वीडियो में दिखाया गया है कि चीनी सेना की रॉकेट फोर्स एक साथ जोरदार हमले करती है और एक पूरे पहाड़ी इलाके को तबाह कर देती है।

China

ये भी पढ़ें…अभी-अभी बलिया में हलचल: STF के हाथ लगा धीरेंद्र सिंह, सच आएगा सामने

इन मिसाइलों का किया प्रदर्शन

चीनी सेना की तरफ से गाइडे‍ड मिसाइल के हमले किए गए हैं। इस अभ्‍यास के दौरान चीनी सेना की तोपों ने भी जमकर बमों की बारिश की। चीनी सैनिकों ने कंधे पर रखकर दागे जाने वाली मिसाइलों का भी प्रदर्शन किया। ग्‍लोबल टाइम्‍स की तरफ से दावा किया गया है कि इस अभ्‍यास में शामिल 90 प्रतिशथ हथियार और उपकरण एकदम नए हैं। जानकारों का कहना है कि चीनी के भोंपू अखबार ने भारत-चीन बातचीत के दौरान दबाव बनाने के लिए ऐसा वीडिया जारी किया है।

ये भी पढ़ें…चीन पर तगड़ा आक्रमण: तुरंत तैनात खतरनाक मिसाइलें, होगा अब महायुद्ध

विदेश मंत्री का चीन को जवाब

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में बने तनाव को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है, लेकिन अभी तक लद्दाख गतिरोध का कोई हल नहीं निकला है। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर का कहना है कि सीमा पर बड़ी संख्या में चीनी सैनिकों की तैनाती पूर्व में हुए करारों का उलट है। उन्होंने आगे कहा कि ऐसे जब दोनों देशों के सैनिक तनाव वाले इलाकों में तैनात रहते हैं तो वही होता है जो 15 जून को हुआ। जयशंकर ने कहा कि यह बर्ताव न सिर्फ बातचीत को प्रभावित करता है बल्कि 30 वर्ष के संबंधों को भी खराब करता है।

ये भी पढ़ें…कंगना ने FIR पर उद्धव सरकार को दिया तगड़ा जवाब, कह दी इतनी बड़ी बात

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App