ऑस्ट्रिया की संसद ने बार और रेस्तरां में सिगरेट पीने पर लगाई रोक

ऑस्ट्रिया की संसद ने बार और रेस्तरां में सिगरेट पीने पर लगाई रोक

वियेना: ऑस्ट्रिया की संसद ने देश के बार और रेस्तरां में धूम्रपान पर रोक लगा दी है। संसद में सिर्फ धुर दक्षिणपंथी फ्रीडम पार्टी के सांसदों ने प्रतिबंध के खिलाफ मतदान किया। अब ऑस्ट्रिया को ‘यूरोप के ऐशट्रे’ के रूप में अपनी पहचान से छुटकारा मिल जाएगा। एफपीओ के पूर्व नेता हाइंस-क्रिश्टियान श्ट्राखे खुद धूम्रपान करने वाले व्यक्ति हैं। इसलिए पार्टी ने दिसंबर 2017 में सरकार में आने पर पब और रेस्तरां में धूम्रपान पर प्रतिबंध लगाने के पिछले प्रयास में बाधा डाली थी। इस फैसले ने जनता के एक बड़े हिस्से और ऑस्ट्रियाई मेडिकल एसोसिएशन को संघर्ष के लिए प्रेरित किया था। करीब 900,000 लोगों यानी 14 प्रतिशत मतदाताओं ने प्रतिबंध के पक्ष में हस्ताक्षर किया। मई में श्ट्राखे पर भ्रष्टाचार व घोटाले के आरोपों की वजह से ऑस्ट्रिया की गठबंधन सरकार गिर गई जिसमें एफपीओ भी शामिल थी। इससे संसद के समक्ष धूम्रपान पर प्रतिबंध लगाने का मार्ग प्रशस्त हुआ।

यह भी पढ़ें: पश्चिमी देश अपने कचरे के लिए ढूंढ रहा नया डंपिंग ग्राउंड

मुख्य विपक्षी सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख डॉ. पामेला रेंडी-वागनर ने कहा, ‘हम ऑस्ट्रिया के हजारों लोगों को सेहतमंद रखने और उनकी उम्र बढ़ाने जा रहे हैं।’ ऑस्ट्रिया यूरोप के उन अंतिम देशों में से था, जहां एक दशक से अधिक समय से प्रतिबंध की मांग के बावजूद बार और रेस्तरां में धूम्रपान की अनुमति थी। अब तक बार और रेस्तरां में धूम्रपान तब तक कानूनी रहा है जब तक कि यह एक अलग हिस्से में किया जाता हो। इस नियम को हमेशा कठोरता से लागू नहीं किया जाता था। मालिक की अनुमति के बाद 50 वर्ग मीटर (540 वर्ग फीट) से छोटे बार या रेस्तरां में धूम्रपान करने के लिए अलग से जगह की आवश्यकता नहीं थी। हालांकि, काफी संख्या में रेस्तरां और कैफे पहले ही धूम्रपान पर प्रतिबंध लगा चुके हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिका में एक इमारत की सुरक्षा व्यवस्था अमेरिकी राष्ट्रपति से भी ज्यादा कड़ी
वहीं स्वीडन में अब धूम्रपान करने वालों को पब के बाहर के इलाकों में सिगरेट जलाने की अनुमति नहीं है। स्वीडन का नया तंबाकू कानून सार्वजनिक स्थानों पर लागू होता है। सार्वजनिक खेल के मैदान, बस स्टॉप और ट्रेन प्लेटफार्म अब धूम्रपान प्रतिबंधित क्षेत्र होंगे। यह नियम ई-सिगरेट के लिए भी लागू होता है। स्वीडिश हेल्थ अथॉरिटी ने इस कानून को देश की बडी आबादी के स्वास्थ्य की सुरक्षा का महत्वपूर्ण कदम बताया है। इससे पैसिव स्मोकिंग से होने वाला नुकसान भी कम होगा। प्रधानमंत्री स्टेफान लोएवीन की सरकार ने 2025 तक स्वीडन को धूम्रपान मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा है। अब तक स्वीडन में रहने वालों को स्टॉकहोम और अन्य शहरों में पब और रेस्तरां के सामने विशेष क्षेत्रों में सिगरेट पीते देखा जा सकता था। कई वर्षों से उन्हें अंदर धूम्रपान करने की अनुमति नहीं है।