जानिए दुनिया में कैसे दी जाती है मौत की सजा, कहीं पत्थर मारकर, कहीं सिर काटकर

दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को जल्द फांसी की सजा होने की संभवाना है। मुकेश, पवन और विनय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है, जबकि अक्षय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। लेकिन अभी यह जानकारी नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट इस पर कब सुनवाई करेगा।

नई दिल्ली: दिल्ली में साल 2012 में हुए निर्भया गैंगरेप के चारों दोषियों को जल्द फांसी की सजा होने की संभवाना है। मुकेश, पवन और विनय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी है, जबकि अक्षय की पुनर्विचार याचिका सुप्रीम कोर्ट में लंबित है। लेकिन अभी यह जानकारी नहीं है कि सुप्रीम कोर्ट इस पर कब सुनवाई करेगा।

निर्भया के दोषियों ने राष्ट्रपति के पास रहम की भी गुहार लगाई है। राष्ट्रपति द्वारा याचिका खारिज होने के बाद निर्भया के दोषियों को फांसी में लटकाने का काम शुरू हो जाएगा। इन दोषियों को पटियाला हाउस कोर्ट से ब्लैक वारंट जारी करेगा और फिर फांसी दे दी जाएगी। भारत में अंग्रेजों की हुकूमत के समय से ही फांसी पर लटकाने की परंपरा है। आज भी जल्लाद ही कैदी को फांसी के फंदे पर चढ़ाता है।

यह भी पढ़ें…प्रदूषण के चलते उम्र पहले से हो रही कम, फांसी की जरूरत क्या: निर्भया दोषी

पूरी दुनिया में मौत की सजा दी जाती है, लेकिन दुनिया के अलग-अगल देशों में फांसी देने के लिए कई तरह के तरीके अपनाए जाते हैं। तो हम आपको बताते हैं दुनिया के अलग-अलग देशों में कैसे मौत की सजा दी जाती है।

दुनिया के कुछ देशों में गोली मारकर, कुछ देशों में सिर काटकर और कुछ देशों में जहर का इंजेक्शन लगाकर फांसी की सजा पाए कैदियों को मौत की सजा दी जाती है। इसके अलावा इलेक्ट्रोक्यूशन और जहरीली गैस से भी कैदियों को मौत दी जाती है।

यह भी पढ़ें…राहुल गांधी का पर्सनल नंबर! करें सीधी बात-नो बकवास, जानें और भी बहुत कुछ

अफगानिस्तान और सूडान में गोली मारकर, फांसी पर लटकाकर और पत्थर मारकर कैदियों को सजा-ए-मौत दी जाती है। तो वहीं बांग्लादेश, कैमरून, सीरिया, युगांडा, ईरान, कुवैत और मिस्र जैसे देशों में फांसी पर लटकाकर और गोली मारकर मौत की सजा दी जाती है।

मलेशिया, बोत्सवाना, तंजानिया, जाम्बिया, दक्षिण कोरिया और जिम्बाब्वे में मौत की सजा पाए कैदियों को फांसी पर लटकाकर मौत की सजा दी जाती है। यमन, थाइलैंड, बहरीन, टोगो, तुर्कमेनिस्तान, चिली, इंडोनेशिया, अर्मीनिया और घाना में कैदियों को गोली मारकर फांसी दी जाती है।

यह भी पढ़ें…यहां हुई भीषण गोलीबारी, पुलिस अधिकारी समेत कई लोगों की बिछ गई लाशें

चीन में जहर का इंजेक्शन और गोली मारकर फांसी की सजा पाए कैदियों को मौत दी जाती है। फिलीपींस में जहर का इंजेक्शन लगाकर मौत दी जाती है। अमेरिका में इलेक्ट्रोक्यूशन, जहरीली गैस, फांसी के फंदे पर लटकाकर और गोली मारकर मौत की सजा दी जाती है।