कई देशों में तबलिगी जमात वालों से फैला है कोरोना वायरस

मलेशिया के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मस्जिद के जलसे में शामिल 4 हजार लोग अभी पकड़ में नहीं आए हैं। इनमें ज़्यादातर रोहिंगिया शरणार्थी हैं। अब पाया गया है कि मलेशिया के कुल कोरोना मामलों में से दो तिहाई तबलिगी जमात के जलसे से जुड़े हुये हैं।

लखनऊ: तबलिगी जमात ने भारत के अलावा मलेशिया, इन्डोनेशिया समेत दक्षिण एशिया के तमाम देशों में कोरोना वायरस फैलाया है।
इसकी शुरुआत पहली मर्तबा कब हुई ये बता पाना मुश्किल है लेकिन मामला खुला 27 फरवरी से 1 मार्च के बीच मलेशिया की राजधानी कुआलालम्पुर स्थित पेटलिंग मस्जिद में अंतर्राष्ट्रीय जलसे के आयोजन के बाद।

बड़ी मात्रा में तबलिगी समाज कोरोना वाइरस से संक्रमित पाये गए

इस जलसे में अलग अलग देशों के 16 हजार से ज्यादा तबलिगी सदस्य शामिल हुए थे। जब कोरोना का संकट बढ़ा और टेस्टिंग शुरू हुई तो इन लोगों में से 700 मलेशियाई तबलिगी कोरोना वाइरस से संक्रमित पाये गए। इन लोगों ने आगे  कितनों को वाइरस बांटा ये संख्या हजारों में होने का अनुमान है।

ये भी देखें: स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले की सीएम शिवराज ने की निंदा, कहा- होगी कड़ी कार्यवाही

मलेशिया के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार मस्जिद के जलसे में शामिल 4 हजार लोग अभी पकड़ में नहीं आए हैं। इनमें ज़्यादातर रोहिंगिया शरणार्थी हैं। अब पाया गया है कि मलेशिया के कुल कोरोना मामलों में से दो तिहाई तबलिगी जमात के जलसे से जुड़े हुये हैं। पेटलिंग मस्जिद ही मलेशिया में कोरोना वायरस का हॉट स्पॉट साबित हुई।

मकस्सर में कई देशों के 8 हजार तबलिगी जमा

1 मार्च के बाद कोरोना वायरस की भयावह स्थिति सामने आने लगी थी लेकिन तबलिगी जमात वालों ने सब जानते हुये भी इन्डोनेशिया के मकस्सर में एक जलसे के आयोजन का ऐलान कर डाला। सरकार के काफी कहने पर तबलिगी जमात ने ये आयोजन रद किया। लेकिन मकस्सर में तब तक कई देशों के 8 हजार तबलिगी जमा हो चुके थे।

इसके बाद लाहौर, पाकिस्तान में तबलिगी जमात ने डेढ़ लाख लोगों के जलसे की तैयारी कर ली। अधिकारियों के आग्रह पर आयोजन रद तो कर दिया गया लेकिन तब तक वहाँ जमात के लोग भारी संख्या में एकत्र हो चुके थे। ये सब मस्जिद और तंबुओं में ठसाठस भरे हुये थे। ये सब वापस लौटे तो गाज़ा पट्टी तक कोरोना वायरस फैला दिया।

ये भी देखें: पाकिस्तान की हरकत: कोरोना के संकट में PoK में राहत सामग्री बेच रहे पाक अधिकारी

  • ब्रुनेई में कोरोना वायरस के 73 मामलों का लिंक पेटलिंग मस्जिद के जलसे से है।
  • थाईलैंड के दस केस तबलिगी जमात वालों से फैले।
  • मलेशिया से कंबोडिया लौटे तबलिगी जमातवालों में कोरोना वायरस मिला,
    उनके परिवार में भी फैला।
  • लाहौर से लौटे तबलिगी जमात के दो लोगों ने गाज़ा पट्टी, फिलिस्तीन
    में कोरोना वायरस फैला।
  • लाहौर से ही किरगिस्तान में कोरोना वायरस फैला।