×

अमेरिका की इस एक गलती से आज छिड़ जाती जंग, समुद्र में लग जाते लाशों के ढेर

इस विमान वाहक युद्ध पोत का नाम द्वितीय विश्व युद्ध के समय अमेरिका के प्रशांत बेड़े के कमांडर फ्लीट एडमिरल चेस्टर डब्लू निमित्ज़ के नाम पर पर रखा गया है।

Newstrack
Published on: 24 Nov 2020 10:26 AM GMT
अमेरिका की इस एक गलती से आज छिड़ जाती जंग, समुद्र में लग जाते लाशों के ढेर
X
इस युद्धपोत की लम्बाई 1,092 फीट (333 मीटर) हैं और इसका वजन तकरीबन 100,000 से टन से अधिक है। पूरी दुनिया के अंदर निमित्ज़ अपनी श्रेणी का सबसे बड़ा युद्धपोत है।
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

वाशिंगटन: आज की बड़ी खबर रूस से आ रही है। रूस ने जापान सागर के पास अपने समुद्री सीमा में अवैध रूप से आए अमेरिकी नौसेना के एक जंगी जहाज को पकड़ लिया। बाद में उसे चेतावनी देकर छोड़ दिया गया। इस बात की पुष्टि खुद रूस के रक्षा मंत्रालय ने की है।

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो रूस के रक्षा मंत्रालय ने इस पूरे मामले में बयान जारी किया है। जिसमें ये बताया गया है कि एक रूसी युद्धपोत ने जापान सागर के पास रूस के जल क्षेत्र में अवैध रूप से मौजूद अमेरिकी नौसेना के विध्वंसक जहाज को पकड़ा है।

रूस के नौसेना के एडमिरल विन्नेरादोव के मुताबिक रूसी जंगी जहाज द्वारा चेतावनी दिए जाने के बाद अमेरिकी जहाज उसके जल क्षेत्र से वापस पीछे लौट गया।

vladimir putin अमेरिका की इस एक गलती से आज छिड़ जाती जंग, समुद्र में लग जाते लाशों के ढेर (फोटो:सोशल मीडिया)

चीन में अब नहीं बचा कोई गरीब, डेड लाइन से एक महीने पहले ही पूरा कर लिया लक्ष्य

रूस की सूझबूझ से टल गई जंग

इस घटना के सामने आने के बाद हर तरफ रूस की सूझबूझ की चर्चा हो रही है। अगर रूस ने हड़बड़ाहट में अमेरिकी नौसेना के खिलाफ कोई गलत कदम उठा लिया होता तो आज दोनों देशों के बीच जंग छिड़ गई होती।अमेरिका नौसेना की गलती का खामियाजा तमाम बेकसूर लोगों को भुगतना पड़ता।

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिंद महासागर में इस समय अमेरिका नौसेना भारत, जापान और ऑस्ट्रेलिया की नौसेना के साथ मिलकर युद्धाभ्यास भी कर रही है। इस युद्धाभ्यास को मालाबार नेवल एक्सरसाइज का नाम से जाना जा रहा है।

हिंद महासागर के अंदर मालाबार नेवल एक्सरसाइज में निमित्ज जंगी जहाज ने भी भाग लिया है जो अमेरिकी नौसेना का परमाणु ऊर्जा संचालित विमान वाहक पोत है।

बाइडेन ने भारत के इस दोस्त को बनाया विदेश मंत्री, जानिए एंटनी के बारे में

Malabar Drill अमेरिका की इस एक गलती से आज छिड़ जाती जंग, समुद्र में लग जाते लाशों के ढेर (फोटो:सोशल मीडिया)

निमित्ज़ को वर्ष साल 2017 में अमेरिका नौसेना में किया गया था शामिल

इस विमान वाहक युद्ध पोत का नाम द्वितीय विश्व युद्ध के समय अमेरिका के प्रशांत बेड़े के कमांडर फ्लीट एडमिरल चेस्टर डब्लू निमित्ज़ के नाम पर पर रखा गया है।

इस युद्धपोत की लम्बाई 1,092 फीट (333 मीटर) हैं और इसका वजन तकरीबन 100,000 से टन से अधिक है। पूरी दुनिया के अंदर निमित्ज़ अपनी श्रेणी का सबसे बड़ा युद्धपोत है। निमित्ज़ को वर्ष साल 2017 में अमेरिकी नौसेना के बेड़े में शामिल किया था।

इजरायल के प्रधानमंत्री ने उठाया ये बड़ा कदम, इन मुस्लिम देशों में मची हलचल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story