×

एक और जंग का मोर्चा खुलाः तेल की खोज के झगड़े में भिड़े ग्रीस और टर्की

पूर्वी भूमध्य सागर में तेल की खोज के मुद्दे पर तुर्की और ग्रीस के बीच तनाव बढ़ गया है। हाल ही में हागिया सोफिया को फिर से मस्जिद का दर्जा दिये जाने पर भी ग्रीस ने कड़ी आपत्ति जताई थी।

Newstrack
Updated on: 14 Aug 2020 12:19 PM GMT
एक और जंग का मोर्चा खुलाः तेल की खोज के झगड़े में भिड़े ग्रीस और टर्की
X
एक और जंग का मोर्चा खुलाः तेल की खोज के झगड़े में भिड़े ग्रीस और टर्की
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: पूर्वी भूमध्य सागर में तेल की खोज के मुद्दे पर तुर्की और ग्रीस के बीच तनाव बढ़ गया है। हाल ही में हागिया सोफिया को फिर से मस्जिद का दर्जा दिये जाने पर भी ग्रीस ने कड़ी आपत्ति जताई थी। दोनों देशों के बीच तनातनी में अमेरिका भी फांद पड़ा है और उसने तुर्की को ग्रीस के जलक्षेत्र में रिसर्च न करने की सलाह दी है।

ये भी पढ़ें:कोरोना महामारी के दौरान रेडक्रॉस शिविर में 31 यूनिट महादानियो ने किया रक्तदान

एक और जंग का मोर्चा खुलाः तेल की खोज के झगड़े में भिड़े ग्रीस और टर्की

ये मामला पूर्वी भूमध्यसागर के विवादित जलक्षेत्र में हाइड्रोकार्बन की रिसर्च के लिए तुर्की के सर्वे जहाज भेजे जाने को लेकर है। तुर्की ने घोषणा की थी कि उसका सर्वे जहाज साइप्रस और ग्रीस के बीच पूर्व भूमध्यसागर क्षेत्र में अन्वेषण संबंधी ड्रिलिंग करने जाएगा। तुर्की ने अंतरराष्ट्रीय समुद्री सुरक्षा संदेश जारी कर घोषणा की है कि उसके अनुसंधान जहाज ओरूक रीस और दो सहायक पोत 23 अगस्त तक अन्वेषण संबंधी ड्रिलिंग करेंगे। तुर्की के ऊर्जा एवं प्राकृतिक संसाधन मंत्री फातिह डोनमेज ने कहा है कि ओरूक रीस तुर्की के दक्षिण तट से अपने अभियान संबंधी क्षेत्र में पहुंच चुका है। इस क्षेत्र में ड्रिलिंग अधिकारों और समुद्री सीमा को लेकर हाल के महीने में तनाव बहुत ज्यादा बढ़ गया है।

मामला तेल का

यूरोपीयन यूनियन के विदेश मामलों के प्रमुख जोसेप बोर्रेल ने हाल में ही तुर्की का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने र्वी भूमध्य सागर में तेल खोज के मामले पर तुर्की के ग्रीस और साइप्रस से विवाद का मुद्दा उठाया। साइप्रस का दावा है कि जिस इलाके में तुर्की तेल खोज कर रहा है वहां पर उसका अधिकार है। ग्रीस सरकार के प्रवक्ता स्टेलियोस पेटसास ने कहा है कि तुर्की द्वारा भूमध्य सागर में खनन अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं और अंतरराष्ट्रीय कानूनों के विपरीत है। उन्होंने कहा कि ग्रीस उसके खिलाफ संभावित राजनीतिक, कूटनीतिक और वित्तीय प्रतिबंधों की सूची बना रहा है।

हागिया सोफिया पर भी तनातनी

तुर्की के हागिया सोफिया स्मारक को लेकर भी तुर्की और ग्रीस में तनातनी हो चुकी है। ग्रीस ने कहा है कि 21 वीं सदी में तुर्की में हुई घोर राष्ट्रवादी और धार्मिक इस घटना से पूरी दुनिया अवाक रह गई है। राष्ट्रपति तैय्यप ने कहा है कि जो लोग इसका विरोध कर रहे हैं, वे वास्तव में तुर्की और वहां के लोगों के विरोधी हैं। जबकि ग्रीस ने कहा है कि तुर्की ने हागिया सोफिया की स्थिति को बदलकर उन दसियों समझौतों को तोड़ा है जो उसने किए थे। हागिया सोफिया वह संग्रहालय था, जहां ऑर्थोडॉक्स ईसाई धर्म को मानने वाले ग्रीक धार्मिक भावनाओं से वशीभूत होकर जाते थे।

ये भी पढ़ें:ये है कोरोना का प्रकोप: मौत के मामले में भारत चौथे नंबर, सामने आये डरावने आंकड़े

एक और जंग का मोर्चा खुलाः तेल की खोज के झगड़े में भिड़े ग्रीस और टर्की

शरणार्थियों का मसला

तुर्की और ग्रीस के बीच शरणार्थियों का मसला भी तकरार का बहुत बड़ा कारण है। असल में यूरोप में घुसना चाह रहे सीरियाई, अफगानी, इराकी और अन्य देशों के लोग तुर्की के रास्ते ग्रीस जाने की कोशिश करते हैं। तुर्की ऐसे लोगों को अपने देश में आने से रोकता भी नहीं है उलटे इनको ग्रीस में घुसने में मदद करता है। ये मसला दोनों देशों के बीच विवाद का बहुत बड़ा कारण बना हुआ है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story