×

G-7 Summit: ट्रंप ने अपने रिजॉर्ट में आयोजन किया रद्द, वजह जान चौंक जायेंगे आप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जी-7 शिखर सम्मेलन के आयोजन को लेकर बड़ा बयान दिया है। ट्रंप ने कहा कि जी-7 शिखर सम्मेलन का आयोजन उनके रिजॉर्ट ‘ट्रंप नेशनल डोरल’ में नहीं होगा।

Aditya Mishra
Updated on: 21 Oct 2019 8:51 AM GMT
G-7 Summit: ट्रंप ने अपने रिजॉर्ट में आयोजन किया रद्द, वजह जान चौंक जायेंगे आप
X
फ़ाइल फोटो
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जी-7 शिखर सम्मेलन के आयोजन को लेकर बड़ा बयान दिया है। ट्रंप ने कहा कि जी-7 शिखर सम्मेलन का आयोजन उनके रिजॉर्ट ‘ट्रंप नेशनल डोरल’ में नहीं होगा।

उन्होंने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। बताया जा रहा ये फैसला ट्रंप ने चौतरफा आलोचना और भ्रष्टाचार का आरोप लगने के बाद लिया है। वे इस ऐलान के बाद से विपक्ष के अलावा अपनी ही पार्टी के कुछ सांसदों के निशाने पर थे।

बता दे कि इससे पहले खुद ट्रंप ने कहा था कि वे इस बार फ्लोरिडा स्थित अपने निजी रिजॉर्ट में जी-7 शिखर सम्मेलन कराना चाहते हैं। इस बात की उन्होंने घोषणा भी की थी। हालांकि उन्होंने अब अपनी घोषणा को वापस ले लिया है।

डोनाल्ड ट्रंप

ये भी पढ़ें...ट्रंप ने PM मोदी को बताया ‘फादर ऑफ इंडिया’, कांग्रेस को लगी मिर्ची, कही ये बात

क्या कहा ट्रंप ने?

ट्रंप ने लिखा, ‘मुझे लगा था कि मैं ट्रंप नेशनल डोराल का इस्तेमाल कर देश के लिए कुछ अच्छा कर रहा हूं। मैं अपने रिजॉर्ट पर इसलिए बैठक करवाना चाहता था कि क्योंकि वो बड़ा और भव्य है, वहां के बॉलरूम और बैठक कक्ष विशाल हैं। लेकिन हमेशा की तरह विद्वेष रखने वाला मीडिया और उनके डेमोक्रेट सहयोगी पागल हो गए।’ इसलिए मैंने अपना फैसला बदल लिया है।

डोनाल्ड ट्रंप से डरा ट्विटर, विवादित ट्वीट हटाने से किया इंकार

ये भी पढ़ें...क्या-क्या अदाएं हैं हमारे ‘ट्रंप-जी’ की: डॉ. वेदप्रताप वैदिक

ये है पूरा मामला

दरअसल गुरूवार को व्हाइट हाउस की ओर से राष्ट्रपति ट्रंप के ही रिजॉर्ट पर दुनिया के सात शक्तिशाली देशों के नेताओं की बैठक कराने की घोषणा की गई थी। उसके बाद से विपक्ष और ट्रंप की अपनी ही पार्टी के कुछ सांसदों ने उन्हें निशाने पर ले लिया था।

इस फैसले की ये कहते हुए आलोचना हो रही थी कि ऐसा कर ट्रंप खुद को फायदा पहुंचाना चाहते हैं इसलिए वे अपने रिसार्ट का उपयोग कर रहे हैं। विवाद बढ़ने के बाद व्हाइट हाउस ने बयान जारी कर इसका खंडन किया था।

अमेरिका के कई सांसदों ने भी इस पर एतराज किया था, जिसमें ट्रंप की अपनी ही रिपब्लिकन पार्टी के भी कुछ सांसद शामिल थे। जी-7 सम्मेलन को लेकर ट्रंप की इस घोषणा के बाद उन्हें चौतरफा आलोचनाओं का शिकार होना पड़ा।

ये भी पढ़ें...ऐसी हैं मोदी-ट्रंप और पुतिन-जिनपिंग की कारें, खूबियां जान हो जायेंगे हैरान

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story