राष्ट्रपति ट्रंप का चीन पर बढ़ता जा रहा है गुस्सा, जानिए क्या है वजह

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोनावायरस को लेकर एक बार फिर चीन पर निशाना साधा है। राष्ट्रपति ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ता जाएगा, वैसे-वैसे चीन पर मेरा गुस्सा भी बढ़ता  जाएगा।

Published by suman Published: July 1, 2020 | 10:01 am
Modified: July 1, 2020 | 10:28 am

नई दिल्ली:  अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोनावायरस को लेकर एक बार फिर चीन पर निशाना साधा है। राष्ट्रपति ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि जैसे-जैसे कोरोना बढ़ता जाएगा, वैसे-वैसे चीन पर मेरा गुस्सा भी बढ़ता  जाएगा।

अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि महामारी पर वे पूरी तरह से नियंत्रण कर पाने की स्थिति में नहीं हैं।ट्रंप ने मंगलवार को ट्वीट किया, “जैसे-जैसे मैं पूरी दुनिया में महामारी  फैलते देख रहा हूं जिसमें अमेरिका को महामारी  भी शामिल है, वैसे-वैसे चीन के खिलाफ मेरा गुस्सा बढ़ता जाता है।कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी के लिए ट्रंप बीजिंग को दोषी ठहराते रहे हैं ।दोनों देशों में जारी ट्रेड वॉर के बीच कोरोना वायरस की महामारी ने तनाव और बढ़ा दिया है।

 

 

यह पढ़ें…अमेरिका ने चीन को दिया तगड़ा झटका, इन दो कंपनियों को बताया देश के लिए खतरा

रोजाना एक लाख नए मामले

 

बता दें कि राष्ट्रपति ट्रंप के मेडिकल एडवाइजर डॉ एंथनी फाउची ने कोरोना प्रसार को लेकर बड़ी बात कही है।  उन्होंने कहा कि अगर सार्ववजनिक जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसी सावधानियां नहीं बरती गईं तो अमेरिका में रोजाना एक लाख नए मामले सामने आ सकते हैं। डॉ एंथनी फाउची ने कहा, “फिलहाल अमेरिका में एक दिन में 40 हजार से अधीक कोरोना मामले सामने आ रहे हैं। मुझे आश्चर्य नहीं होगा अगर हम एक दिन में एक लाख कोविड-19 के केसों तक पहुंच जाते हैं।इसलिए मैं बहुत चिंतित हूं।

 

यह पढ़ें..चीन की शातिर चाल, अब हांगकांग और सिंगापुर के जरिए शुरू किया ये खेल

 

आरोप प्रत्यारोप

चीन ट्रंप प्रशासन पर महामारी का राजनीतिकरण लगाने का आरोप लगाता है। चीन ने कहा था कि अमेरिका अपने यहां फैली महामारी को ना संभाल पाने की वजह से ध्यान भटकाने के लिए ऐसे आरोप लगाता है। वहीं, अमेरिकी अधिकारियों ने चीन से ट्रांसपरेसी बरतने की मांग की है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चीन से सारे संबंध तोड़ने तक की धमकी दिया हैं।  चीन से संबंध खत्म करने से अमेरिका को फायदा ही होगा।

बता दें कि  पूरी दुनिया में कोरोनावायरस पॉजिटिव मामलों का आंकड़ा एक करोड़ पांच लाख के ऊपर जा चुका है। साथ ही 5 लाख तेरह हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना का सबसे बुरा प्रभाव अमेरिका पर पड़ा है।

 

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।