Top

दुनिया में साल 2021 का जश्न: इस देश में अभी चल रहा 2014, जानिए क्या है वजह

इथियोपिया में रोमन चर्च को लोग मानते हैं। इथियोपियन ऑर्थोडॉक्स चर्च का मानना है कि ईसा मसीह का जन्म 7 बीसी में हुआ। उनका कहना है कि इसी के अनुसार कैलेंडर की गिनती शुरू हुई। जबकि दुनिया के अन्य देशों में ईसा मसीह का जन्म AD1 में माना जाता है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 1 Jan 2021 4:21 PM GMT

दुनिया में साल 2021 का जश्न: इस देश में अभी चल रहा 2014, जानिए क्या है वजह
X
दुनियाभर में साल 2021 की शुरुआत हो चुकी है, तो वहीं एक ऐसा देश हैं जहां अभी 2014 चल रहा है। इस देश का नाम है इथियोपिया। यहां 11 सितंबर को नया साल मनाते हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: दुनियाभर में साल 2021 की शुरुआत हो चुकी है, तो वहीं एक ऐसा देश हैं जहां अभी 2014 चल रहा है। इस देश का नाम है इथियोपिया। दुनिया से इस अफ्रीकी देश का कैलेंडर 7 से 8 साल पीछे चलता है। यह देश कई मामलों में दुनिया से बिल्कुल अलग है। उदाहरण के तौर पर साल में 13 महीने होते हैं।

इस देश की आबादी करीब 85 लाख है। अफ्रीका देशों में आबादी के मामले यह दूसरे स्थान पर है। इथियोपिया का कैलेंडर ग्रेगोरियन कैलेंडर से करीब पौने आठ साल पीछे है। यहां के लोग नया साल 1 जनवरी की जगह हर 13 महीने बाद 11 सितंबर को मनाते हैं।

दरअसल ग्रेगोरियन कैलेंडर 1582 में शुरू हुआ था। इससे पहले जूलियन कैलेंडर का इस्तेमाल किया जाता था। जो देश कैथोलिक चर्च को मानते थे उन्होंने नया कैलेंडर स्वीकार कर लिया, तो वहीं कई देश इसके खिलाफ विरोध कर रहे थे। विरोध करने वाले देशों में इथियोपिया भी शामिल था।

ethiopia

ये भी पढ़ें...कौन थे गोकुल सिंह जाट, जिन्होंने गुरु गोविंद सिंह से भी पहले लड़ी थी हिंदुओं की लड़ाई

रोमन चर्च को मानते हैं इथियोपियन

इथियोपिया में रोमन चर्च को लोग मानते हैं। इथियोपियन ऑर्थोडॉक्स चर्च का मानना है कि ईसा मसीह का जन्म 7 बीसी में हुआ। उनका कहना है कि इसी के अनुसार कैलेंडर की गिनती शुरू हुई। जबकि दुनिया के अन्य देशों में ईसा मसीह का जन्म AD1 में माना जाता है। इसकी वजह से ही इथियोपिया का कैलेंडर में अब भी 2014 चल रहा है, तो वहीं दुनिया के देशों में 2021 की शुरुआत हो चुकी है।

इथियोपियन कैलेंडर में एक साल 13 महीने का होता है। इनमें 12 महीना 30 दिन का होता है। इथयोपिया में लोग आखिरी महीने को पाग्युमे कहते हैं। आखिरी महीने में सिर्फ पांच या छह दिन होते हैं। इस महीने को साल के उन दिनों की याद में जोड़कर बनाया जाता है, जो किसी कारणवश साल की गिनती में नहीं आता है।

ethiopia

ये भी पढ़ें...गजब की चीज है बिटकॉइन, जानें इसके बारे में बहुत सी खास बातें

इथियोपिया के लोग इस बात का ध्यान रखते हैं कि उनके कैलेंडर और उनकी मान्यताओं के कारण सैलानियों को कोई परेशानी न हो। इथियोपिया घूमने जाने वालों को होटल की बुकिंग और कई दूसरी बेसिक सुविधाएं मिलने में इस कैलेंडर के परेशानी उठानी पड़ती है।

ये भी पढ़ें...डॉ संपूर्णानंद: विद्वान राजनेता जिन्होंने राजनीति को देश सेवा का माध्यम बनाया

ethiopia

यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट में सबसे ज्यादा जगहें इथियोपिया की

इस देश में कई दूसरी खासियतें भी हैं। यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट में सबसे ज्यादा जगहें इथियोपिया की शामिल हैं। इथियोपिया में दुनिया की सबसे गहरी और लंबी गुफा है। यहां दुनिया की सबसे गर्म जगह है। इस देश में प्राकृतिक सुंदरता का खजाना है जो लोगों को आकर्षित करता है। 11 सितंबर को मनाया जाने वाला नया साल खास होता है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story