×

यहां धरती के अंदर हुआ कुछ ऐसा, सड़क पर बिछ गई लाशें, घर छोड़कर भागे लोग

यूरोपीय देश अल्बानिया की राजधानी तिराना में मंगलवार को आए भूकंप में मरने वाले लोगों की तादाद बढ़कर 26 हो गई। जबकि 350 लोगों के घायल होने की खबर है।

Aditya Mishra
Updated on: 27 Nov 2019 1:08 PM GMT
यहां धरती के अंदर हुआ कुछ ऐसा, सड़क पर बिछ गई लाशें, घर छोड़कर भागे लोग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: यूरोपीय देश अल्बानिया की राजधानी तिराना में मंगलवार को आए भूकंप में मरने वाले लोगों की तादाद बढ़कर 26 हो गई। जबकि 350 लोगों के घायल होने की खबर है।

अल्बानिया सरकार के संचार विभाग के निदेशक एंड्री फुगा ने बताया कि इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 6.4 आंकी गई। अमेरिकी भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण ने बताया कि भूकंप का केंद्र तिराना से उत्तर-पश्चिम शिजाक शहर में जमीन से 30 किमी की गहराई में स्थित था।

ये भी पढ़ें....अफगानिस्तानः फायजाबाद के साउथईस्ट इलाके में भूकंप के झटके, तीव्रता 5.3 मापी गई

45 लोगों को सुरक्षित बचाया गया

फुगा ने बताया कि 45 लोगों को सुरक्षित बचाया गया। रक्षा मंत्रालय ने बताया कि तिराना से 33 किलोमीटर दूर दुर्रेस में ढही इमारत से सात शव बाहर निकाले गए। थुमाने शहर में भी एक इमारत ढहने के बाद मलबे से पांच लोगों के शव निकाले गये।

वहीं, एक अन्य घटना में कुर्बिन में भूकंप आने पर घबरा कर अपने घर से बाहर छलांग लगा देने के कारण एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि उत्तरी शहर लेज्हा में सड़क के टूटने से एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई। बचावकर्मी भूकंप के कारण ढही इमारतों में फंसे लोगों को बचाने के प्रयास कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें...खतरनाक भूकंप ने यहां मचाई भीषण तबाही, घर छोड़कर भागे लोग, कई जमीन में दबे

लोगों को बचाने का काम जारी

अल्बानिया के राष्ट्रपति इलिर मेटा ने कहा कि थुमाने में स्थिति काफी गंभीर है। लोगों को बचाने की पूरी कोशिश की जा रही है। अल्बानिया के प्रधानमंत्री एदी रमा ने कहा कि सभी सरकारी एजेंसियां सतर्क हैं और दुर्रेस और थुमाने में लोगों की जान बचाने के लिए काम कर रही हैं। उन्होंने कहा, ''इस आपदा के समय हमें शांत रहने की जरूरत है, दुख की इस घड़ी में हमें एक दूसरे का साथ देने की जरूरत है।"

ये भी पढ़ें...भूकंप से थर्रायेगा भारत! हो जाएं सावधान, तेज रफ़्तार से खिसक रहा देश

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story