×

डर कायम है! खूंखार आंतकी का इतना खौफ, कातिलों को सरेआम मिल रही माफी

खूंखार आतंकी हाफिज सईद वैसे तो पाकिस्तान की जेल में बंद है, पर खौफ अभी भी लोगों में बना हुआ है। पाकिस्तान में हाफिज सईद ने अपना रौब दिखा कर कातिलों की सजा माफ करा दी।

Vidushi Mishra
Updated on: 4 Nov 2019 6:39 AM GMT
डर कायम है! खूंखार आंतकी का इतना खौफ, कातिलों को सरेआम मिल रही माफी
X
डर कायम है! खूंखार आंतकी का इतना खौफ, कातिलों का सरेआम मिल रही माफी
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली : खूंखार आतंकी हाफिज सईद वैसे तो पाकिस्तान की जेल में बंद है, पर खौफ अभी भी लोगों में बना हुआ है। पाकिस्तान में हाफिज सईद ने अपना रौब दिखा कर कातिलों की सजा माफ करा दी। आतंकी हाफिज सईद ने परिवारवालों पर ऐसा दबाव बनाया कि उसे अपने बेटे के कातिलों को माफ करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

यह भी देखें... पहले किया हैक: फिर भेजा अश्लील मैसेज, ऐसे कर रहा एक्ट्रेस को परेशान

इस हफ्ते जेल से बरी कर दिया

आपको बता दें कि पाकिस्तान की एक अदालत ने पुलिस हिरासत में एक कथित एटीएम चोर को मार डालने के आरोपी सभी तीन पुलिस अधिकारियों को हाफिज सईद की मध्यस्थता के बाद बरी कर दिया।

इसके साथ जिला एवं सत्र न्यायाधीश जाहिद हुसैन बख्तियार ने कथित एटीएम चोर सलाउद्दीन अयूबी की हत्या के आरोप में तीन पुलिस अधिकारियों महमूदुल हसन, शफात अली और मतलूब हुसैन नाम के पुलिस अधिकारियों को इस हफ्ते जेल से बरी कर दिया।

मौत से देश में आक्रोश पैदा हो गया

हाफिज सईद की ‘इच्छा’ पर अयूबी के परिजनों ने आरोपियों को माफ कर दिया। मानसिक रूप से कमजोर अयूबी की अगस्त में पुलिस हिरासत में कथित यातना के चलते मौत हो गई थी। पुलिस ने उसे एटीएम से रुपये चुराने के आरोप में गिरफ्तार किया था। अयूबी की हिरासत में हुई मौत से देश में आक्रोश पैदा हो गया था।

यह भी देखें… बनेंगे सन्यासी! मशहूर बॉलीवुड अभिनेता के बेटे ने चुनी अध्यात्म की राह

हाफिज सईद ने पुलिस और मृतक के परिजनों के बीच मध्यस्थता में अहम भूमिका निभाई। मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड सईद आतंकवाद को वित्तीय मदद देने के आरोप में 17 जुलाई से यहां उच्च सुरक्षा वाली कोट लखपत जेल में बंद है।

इसके बाद हाफिज ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और उन्हें आरोपी पुलिसकर्मियों को माफ करने के लिए तैयार किया। इस संबंध में एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मियों, उनके अधिकारियों और मृतक के परिजनों ने जेल में सईद के साथ कई बैठकें कीं जिसने उनके बीच समझौता करा दिया।

सईद का पाकिस्तान में कितना डर

इस मामले में सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि सईद ने पीड़ित परिवार के सामने तीन विकल्प रखे कि या तो वे खून के बदले आरोपी पुलिसकर्मियों से धन ले लें, या अल्लाह के नाम पर उन्हें माफ कर दें या फिर कानूनी लड़ाई पर आगे बढ़ें।

परिवार ने पुलिसकर्मियों को माफ करने का विकल्प चुना। मीडिया ने अयूबी के पिता से संपर्क किया तो उन्होंने पुष्टि की कि परिवार ने सईद की ‘इच्छा’ पर पुलिसकर्मियों को माफ कर दिया है। सूत्रों ने कहा कि इससे पता चलता है कि सईद का पाकिस्तान में कितना प्रभाव है कितना ज्यादा डर है।

यह भी देखें… दिल्ली: DTC मार्शल को पुलिसकर्मी ने पीटा, बुराड़ी में हुई झड़प

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story