भारत में ‘कोरोना’ की दस्तक: महाराष्ट्र के बाद राजस्थान और बिहार भी चपेट में

चीन में कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। चीन में कोरोना वायरस कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद 80 हो गई है। कोरोनावायरस केवल चीन तक ही सीमित नहीं है, इसने अब तक अमेरिका सहित एक दर्ज देशों को अपनी चपेट में ले लिया है।

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस का खतरा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। चीन में कोरोना वायरस कोरोना वायरस से मरने वालों की तादाद 80 हो गई है। कोरोनावायरस केवल चीन तक ही सीमित नहीं है, इसने अब तक अमेरिका सहित एक दर्ज देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। दुनिया के सभी देश इसे कम करने के उपायों में लगे हुए हैं। इस बीच महाराष्ट्र के बाद रविवार को जयपुर में कोरोना वायरस का एक संदिग्ध मरीज पाया गया है।

चीन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था संक्रमित

जानकारी के मुताबिक, जयपुर में कोरोनावायरस का संदिग्ध पाया गया लड़का चीन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था, पीड़ित अभी जयपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती है। भारत आने के बाद उसमें कोरोना वायरस के लक्षण देखने को मिला, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं रिपोर्ट्स के अनुसार बिहार में भी एक लड़की के इसकी चपेट में होने की आशंका है।

यह भी पढ़ें: CAA पर बवाल कराने की फिराक में पाकिस्तान, ये देश दे रहा साथ

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने अस्पताल को दिए ये निर्देश

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने सवाई मान सिंह मेडिकल कॉलेज प्रशासन को चीन से मेडिकल की पढ़ाई कर लौटे छात्र के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की आशंका पर उनको तत्काल अलग वार्ड में शिफ्ट करने और उनके पूरे परिवार की स्क्रीनिंग के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री ने ये भी निर्देश दिए हैं कि मरीज के नमूने (Samples) तत्काल पुणे स्थित नेशनल वायरोलॉजी लैब भिजवाए जाए।

बिहार में भी ‘कोरोना’ की दस्तक

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिहार के छपरा में एक लड़की के कोरोना वायरस की चपेट में होने की आशंका है, जिसके चलते लड़की को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहां से आज लड़की को पीएमसीएच लाया जाएगा। ये लड़की भी चीन से पढ़ाई करके लौटी है। मामले में पटना के सिविल सर्जन डॉक्टर विनय कुमार यादव ने बताया कि, छात्रा चीन में न्यूरो साइंस में पीएचडी करके  22 जनवरी को छपरा लौटी थी। तबीयत खराब होने के चलते उसे आइसोलेटिड वार्ड में भर्ती कराया गया। चूंकि छपरा में इस वायरस की जांच की व्यवस्था नहीं है इसलिए अब उसे पटना लाया जा रहा है।

अब तक 80 लोगों की हो चुकी मौत, 2300 लोग संक्रमित

खतरनाक कोरोना से 25 की मौत: निपटने के लिए चीन ने बनाया ये प्लान

गौरतलब है कि चीन में अब तक कोरोना वायरस से 80 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि इससे संक्रमित होने वालों की संख्या तकरीबन 2300 तक जा पहुंची है। बता दें कि इस वायरस से सबसे ज्यादा संक्रमित हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान शहर के लोग हो रहे हैं, जिसकी आबादी 1.1 करोड है।

यह भी पढ़ें: ममता पेश करेंगी CAA के खिलाफ प्रस्ताव, इन 3 विधानसभा में पहले ही हो चुका पास 

शहर में एक हजार नए मरीज

मामले में हुबेई के महापौर झोउ शियांवांग ने रविवार को बताया कि, अब तक 56 लोगों की मौत हुई है, जबकि 1,975 लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। साथ ही ये भी आशंका जताई जा रही है कि शहर में एक हजार नए मरीज हुए हैं। महापौर ने बताया कि उन्होंने यह दावा अस्पतालों में मरीजों के जांच और निगरानी में रखे गए लोगों के आधार पर किया है।

ये देश वुहान से निकालेंगे अपने नागरिक

हुबेई प्रांत की राजधानी वुहान शहर से शुरु हुआ संक्रमण अब पूरे चीन में फैल गया है, साथ ही इसने अमेरिका समेत एक दर्जन देशों को भी अपने चपेट में ले लिया है। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अमेरिका, फ्रांस और रुस अपने नागरिकों को वुहान से निकालने की तैयारी में है। वहीं कई अन्य देश समस्या से निपटने के लिए संभावित संक्रमितों को अलग स्थान पर रखने की वैकल्पिक व्यवस्था कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: दिल्ली विधानसभा चुनाव: अमित शाह ने की शाहीन बाग को करंट देने की अपील

इस समस्या से निपटने के लिए सरकार शहरों को बंद करने के साथ-साथ और अधिक डॉक्टरों और नर्सों को वुहान भेज रही है। 1,350 स्वास्थ्यकर्मी पहले ही वुहान भेजे जा चुके हैं। वहीं एक हजार स्वास्थ्य कर्मियों को और वुहान भेजा जा रहा है।

1,300 बिस्तरों बनेगा एक और अस्थायी अस्पताल

चीन में गंभीर स्थिति के बीच राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है कि चीन इस वक्त एक गंभीर स्थिति का सामना कर रहा है, लेकिन उन्होंने ये विश्वास जताते हुए कहा कि चीन इस लड़ाई को जीत लेगा। कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए चीन ने अगले 15 दिन में वुहान शहर में 1,300 बिस्तरों का एक और अस्थायी अस्पताल बनवाने का ऐलान किया है। शहर में इस वक्त 1,000 बिस्तरों का अस्पताल पहले ही बनाया जा रहा है, जिसका काम 10 दिन में पूरा हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: इस ब्लड ग्रुप की लड़की से करें प्यार, इनका दिल होता है साफ, जानिए अपना राज