×

बड़ी खबरः कोरोना संकट में इटली से पहला क्रूज रवाना, लागू हैं शर्तें

कोविड महामारी के कारण सिर्फ एयरलाइन्स ही नहीं बल्कि यात्री जहाजों का उद्योग भी चरमरा गया है। महामारी के शुरुआती महीनों में दर्जनों क्रूज़ जहाज किसी बंदरगाह पर आ ही नहीं पाए थे।

Newstrack
Updated on: 22 Aug 2020 9:06 AM GMT
बड़ी खबरः कोरोना संकट में इटली से पहला क्रूज रवाना, लागू हैं शर्तें
X
बड़ी खबरः कोरोना संकट में इटली से पहला क्रूज रवाना, लागू हैं शर्तें
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कोविड महामारी के कारण सिर्फ एयरलाइन्स ही नहीं बल्कि यात्री जहाजों का उद्योग भी चरमरा गया है। महामारी के शुरुआती महीनों में दर्जनों क्रूज़ जहाज किसी बंदरगाह पर आ ही नहीं पाए थे। महामारी के कारण उपजे संकट का असर ये है कि जर्मनी की सबसे बड़ी क्रूज़ जहाज निर्माता कंपनी ने अपना कामकाज अस्थाई तौर पर बंद कर दिया है। अमेरिका ने क्रूज़ जहाजों की यात्राओं पर फिलहाल रोक लगा रखी है। ऐसी ही रोक कैरेबियन देशों में लगी हुई है। लेकिन अब धीरे धीरे अंतर्राष्ट्रीय क्रूज़ यात्राएँ शुरू होने लगी हैं।

ये भी पढ़ें:LPG गैस से भरे टैंकर को चला रहा था ड्राइवर, 7 फीट लंबे सांप ने जकड़ लिया पैर, फिर..

बड़ी खबरः कोरोना संकट में इटली से पहला क्रूज रवाना, लागू हैं शर्तें

अब महामारी के बीच दुनिया का पहला क्रूज़ पोत इटली के जेनोआ से रवाना हुआ है। ये जहाज भूमध्य सागर की सैर करेगा। इस क्रूज़ को सख्त नियमों के पालन की शर्त पर ही ऑपरेट करने की इजाजत मिली है।

नए दिशा निर्देश

क्रूज़ कम्पनी एमएससी ने अपने नए स्वास्थ्य एवं सुरक्षा दिशा-निर्देशों के तहत चालक दल के सदस्यों एवं यात्रियों के लिए एक प्रक्रिया तैयार की है। एमएससी का ‘ग्रैंडीओसा’ जहाज जेनोआ के उत्तरी इतालवी बंदरगाह से रविवार शाम पश्चिमी भूमध्य सागर में सात दिन की यात्रा के लिए रवाना हुआ। कम्पनी ने बताया कि किसी के भी संक्रमित पाए जाने या कोविड-19 के बुखार आदि लक्षण होने पर उन्हें क्रूज़ में जाने नहीं दिया गया। यात्रियों से एलिवेटर या अन्य स्थानों पर, जहां सामाजिक दूरी बनाना मुमकिन नहीं हैं, वहां मास्क पहनने को कहा गया है। चालक दल के सदस्य भी क्रूज़ में जाने से पहले पृथक रह रहे थे।

इटली की सरकार ने इस महीने की शुरुआत में इटली के बंदरगाहों से क्रूज़ जहाजों को 70 प्रतिशत की क्षमता के साथ प्रस्थान की मंजूरी दी थी। एमएससी ने इसकी जानकारी नहीं दी कि क्रूज़ में कितने यात्री हैं।

ये भी पढ़ें:हिरासत में पांच मौतें हर दिनः नहीं हुआ यूएन समझौते का अनुमोदन, जानें वजह

बड़ी खबरः कोरोना संकट में इटली से पहला क्रूज रवाना, लागू हैं शर्तें

जर्मनी की कंपनी ने बन्द किया काम

जर्मनी की शिपयार्ड कंपनी मेयेर वेर्फ्त ने काम न होने के कारण 6 हफ़्तों के लिए प्रोडक्शन बंद करने का फैसला किया है। ये कम्पनी लक्जरी क्रूज़ जहाज बनाती है। इस कम्पनी के तीन हजार कर्मचारियों के वेतन में कटौती की बात कही जा रही है। कंपनी ने अपने ग्राहकों से आग्रह किया है कि जहाजों की सप्लाई के लिए कम्पनी को और समय दे दें। दरअसल, इस कंपनी के पास कोविड महामारी फैलने से पहले कुछ आर्डर हाथ में थे लेकिन लॉकडाउन की वजह से काम पूरा नहीं हो पाया है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story