Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

अमेरिका को राष्ट्रपति की धमकी, नहीं दी वैक्सीन तो रद्द होगा सैन्य समझौता

फ्रांस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने अमेरिका को धमकी देते हुए कहा कि अगर कोरोना वायरस वैक्‍सीन नहीं दिया, तो वह सैन्‍य समझौता रद्द कर देंगे। साथ ही वह विजिटिंग फोर्सेस एग्रीमेंट से को रद्द करने की योजना पर आगे बढ़ जाएंगे।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 28 Dec 2020 7:10 AM GMT

अमेरिका को राष्ट्रपति की धमकी, नहीं दी वैक्सीन तो रद्द होगा सैन्य समझौता
X
राष्ट्रपति दुतेर्ते ने कहा, 'यदि अमेरिकी कम से कम दो करोड़ वैक्‍सीन देने में असफल रहते हैं तो उनके लिए अच्‍छा है कि वे यहां से चले जाएं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मनीला। फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते जोकि अपने बेढ़ंगें बयानों की वजह से मशहूर हैं, अब उन्होंने अमेरिका को भी धमकी दे डाली है। राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने धमकी देते हुए कहा कि अगर कोरोना वायरस वैक्‍सीन नहीं दिया, तो वह सैन्‍य समझौता रद्द कर देंगे। ऐसे में शनिवार को दुतेर्ते ने कहा कि अगर अमेरिका ने नए कोरोना वायरस से निपटने के लिए वैक्‍सीन नहीं दी तो वह विजिटिंग फोर्सेस एग्रीमेंट से को रद करने की योजना पर आगे बढ़ जाएंगे।

ये भी पढ़ें... कोरोना का तांडव: मचा रही महातबाही, अमेरिका में चंद सेकेंड में इतनी मौतें

अमेरिकी सेना को उनके देश को छोड़ना होगा

फिलीपींस के राष्‍ट्रपति दुतेर्ते ने कहा कि अमेरिका के साथ सैन्‍य समझौता बिल्‍कुल रद्द होने की कगार पर है और यदि उन्‍होंने इजाजत नहीं दी तो अमेरिकी सेना को उनके देश को छोड़ना होगा।

इससे पहले इसी साल राष्ट्रपति दुतेर्ते ने अमेरिका के साथ सैन्‍य समझौते को रद्द करने का आदेश दिया था, जो बाद में उसे 6 महीने के लिए सस्‍पेंड कर दिया गया। इस समझौते के तहत अमेरिकी सैनिक फ‍िलीपीन्‍स की सरजमीं पर सैन्‍य अभ्‍यास कर सकते हैं।

french फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...चीन में मुसलमानों का नरसंहार! अमेरिका ने लिया ये बड़ा फैसला, अब क्या करेगा ड्रैगन

वैक्‍सीन नहीं तो यहां रूकना भी नहीं

आगे राष्ट्रपति दुतेर्ते ने कहा, 'यदि अमेरिकी कम से कम दो करोड़ वैक्‍सीन देने में असफल रहते हैं तो उनके लिए अच्‍छा है कि वे यहां से चले जाएं। वैक्‍सीन नहीं तो यहां रूकना भी नहीं। अगर अमेरिका फ‍िलीपीन्‍स को कोरोना वैक्‍सीन देना चाहता है तो वह हल्‍ला नहीं करे, बल्कि वैक्‍सीन मुहैया कराए। अमेरिका अपने लोगों को कोरोना वायरस वैक्‍सीन मुहैया कराने के लिए युद्धस्‍तर पर लगा है।'

इसके साथ ही राष्‍ट्रपति ने राष्‍ट्रीय टीकाकरण के प्रभारी से कहा कि वह वैक्‍सीन खरीदने के लिए पैसे की चिंता न करें। जो कुछ भी उपलब्‍ध हो उसे खरीद लो क्‍योंकि यह एक इमरजेंसी है। उन्‍होंने ब्रिटेन और अमेरिका में पहले ही इजाजत दी जा चुकीं, कोरोना वायरस वैक्‍सीन को देश में भी इजाजत देने का आदेश दिया।

ये भी पढ़ें...बदला गाड़ियों का बीमा: यूपी में हुआ ये बड़ा ऐलान, इसमे भी फास्टैग जरूरी

Newstrack

Newstrack

Next Story