पड़ोसी हो गया मालामाल: महिला ने दान कर दी करोड़ों की संपत्ति, सभी हैरान

जर्मनी की रहने वाली एक बुजुर्ग महिला ने रातों रात अपने एक पड़ोसी को करोड़पति बना दिया। उसने अपने पड़ोसी के नाम पर 55.35 करोड़ रुपये की संपत्ति दान में दे दी।

Millionaire

पड़ोसी हो गया मालामाल: महिला ने दान कर दी करोड़ों की संपत्ति, सभी हैरान (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

बर्लिन: आपने वो कहावत तो जरूर सुनी होगी कि ऊपर वाला जब भी देता है छप्पड़ फाड़ के देता है। ऐस ही कुछ हुआ जर्मनी में। यहां की रहने वाली एक बुजुर्ग महिला ने रातों रात अपने एक पड़ोसी को करोड़पति (Millionaire Status) बना दिया। इस महिला ने अपने पड़ोसी को एक दो करोड़ नहीं बल्कि 55.35 करोड़ रुपये (7.5 मिलियन डॉलर) की संपत्ति दान में दे दिए। इसकी जानकारी वाल्डसोल्म्स जिला अधिकारी ने एक विज्ञप्ति जारी कर दी है।

साल 2019 में रेनेट वेडेल का हुआ निधन

इस दरियादिल वाली महिला का नाम रेनेट वेडेल है, जो कि वाइपरफेल्डेन जिले (Weiperfelden Districts) में अपने पति अल्फ्रेड वीडेल के साथ रहती थीं। दरअसल, साल 2019 दिसंबर में 81 साल की उम्र में रेनेट वेडेल की मौत हो गई। उनके पति स्टॉक एक्सचेंज के कारोबार में काफी सक्रिय और सफल रहे। उनके पति ने साल 2014 में इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। वहीं रीनेट काफी बीमार रहती थी, जिसके चलते साल 2016 से फ्रैंकफर्ट के एक नर्सिंग होम में उनका इलाज चल रहा था और साल 2019 के दिसंबर में उनकी मृत्यु हो गई।

यह भी पढ़ें: बर्गर खाने की इच्छा हुई तो 2 लाख में बुक किया हेलिकॉप्टर, 362 KM का किया सफर

अपने पीछे वसीयत छोड़ गईं रेनेट

वहीं साल 2020 के अप्रैल में जिला प्रशासन ने यह जानकारी दी थी कि रेनेट अपने पीछे वसीयत छोड़ गई हैं। जिसमें जिसमें बैंक बैलेंस, शेयर्स और बेशकीमती प्रॉपर्टी के दान का ब्यौरा शामिल है। स्थानीय मीडिया की मानें तो रेनेट का बहन जो उनकी मूल उत्तराधिकारी थी। रेनेट के बहन की उनसे पहले ही मृत्यु हो गई थी। वहीं स्थानीय मेयर बर्नेड हेनी ने एक स्थानीय मीडिया आउटलेट से बातचीत में कहा कि यह खबर सुनकर हमें झटका लगा है। पहले हमें लगा कि यह संभव नही हो सकता।

यह भी पढ़ें: UN में किसान आंदोलन की धमक: प्रदर्शन पर दी प्रतिक्रिया, कही ये बड़ी बात

स्थानीय मेयर को लगा झटका

उन्होंने कहा कि हमें यहीं लगा कि इस खबर में कुछ ना कुछ अधूरा रहा गया होगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नगरपालिका को वाइपरफेल्डेन में एक संपत्ति भी मिली, जिसे एक विरासत के तौर पर शुरू में छोड़ दिया गया था। लेकिन घर और कैंपस के रखरखाव के चलते प्रारंभिक उत्तराधिकारी की ओर से अस्वीकार कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि हम इस जिम्मेदारी को पूरा करेंगे। एक कम्युनिटी भवन विकसित करेंगे और दंपत्ति को ट्रिब्यूट देंगे।

यह भी पढ़ें: बिछ गईं लाशें ही लाशें: 18 मजदूरों की दर्दनाक मौत, ये बनी वजह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App