×

पाकिस्तान में इमरजेंसी लगाएगी इमरान सरकार! बाजवा पर आने वाला है बड़ा फैसला

पाकिस्तान आर्थिक व राजनीतिक संकटों से बुरी तरह घिरा हुआ है। पाकिस्तान में अब इस बात की चर्चा हो रही है कि देश में सरकार इमरजेंसी लगा सकती है। बेतहाशा महंगाई की वजह से पाकिस्तान में लोगों का गुस्सा चरम पर है।

Dharmendra kumar
Updated on: 28 Nov 2019 11:03 AM GMT
पाकिस्तान में इमरजेंसी लगाएगी इमरान सरकार! बाजवा पर आने वाला है बड़ा फैसला
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: पाकिस्तान आर्थिक व राजनीतिक संकटों से बुरी तरह घिरा हुआ है। पाकिस्तान में अब इस बात की चर्चा हो रही है कि देश में सरकार इमरजेंसी लगा सकती है। बेतहाशा महंगाई की वजह से पाकिस्तान में लोगों का गुस्सा चरम पर है और देश में विपक्षी दल इमरान सरकार को सत्ता से हटाने के लिए लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

इन संकटों के बीच सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के सेवाविस्तार को लेकर भी विवाद पैदा हो गया है जिसने संकट को और बढ़ा दिया है। बाजवा के सेवा विस्तार को लेकर कोर्ट में सुनवाई चल रही है।

यह भी पढ़ें...गोडसे को देशभक्त बताने पर प्रज्ञा को मिली ये बड़ी सजा, पार्टी से निकाल सकती है BJP

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सत्ता के शीर्ष पर मौजूद लोग इस बात पर विचार कर रहे हैं कि जनरल बाजवा के मामले में अगर किसी तरह तरह विपरीत फैसला आता है तो इससे देश में पैदा होने वाली किसी भी स्थिति से निपटने के लिए देश में इमरजेंसी लगाया जा सकता है।

रिपोर्ट के मुताबिक इन उच्चपदस्थ सूत्रों ने मंगलवार को कहा कि इस बारे में कोई फैसला नहीं लिया गया है, क्योंकि अधिकांश उच्च अधिकारी इस सुझाव के खिलाफ हैं। उनका कहना है कि इससे हालात और बिगड़ेंगे और इनके पूरी तरह से हाथ से निकल जाने का खतरा पैदा हो जाएगा।

यह भी पढ़ें...वीडियो: ‘चंद्रबाबू’ पर फेंकी गई चप्पलें,लगाए गए ‘गो बैक नायडू’ के नारे

हालांकि इसकी संभावना को पूरी तरह से खारिज भी नहीं किया गया है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि इमरजेंसी लगाने का समर्थन करने वाले नेताओं ने कहा कि अतीत में आपातकाल लगाने के अच्छे नतीजे सामने आ चुके हैं।

यह भी पढ़ें...सीएम बनने के पहले ही उद्धव ठाकरे की बढ़ी मुश्किलें, यहां जानें पूरा मामला

उनका कहना है कि कम समय के लिए आपातकाल को लगाया जाना नुकसानदेह नहीं होगा। इससे संवैधानिक संकट की स्थिति से निपटा जा सकेगा और समाज में किसी तरह की अशांति पर काबू पाकर सौहार्द के साथ लोगों की समस्याओं का समाधान किया जा सकेगा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story