इमरान तो गए: मामला तो है बहुत गंभीर, बचेगा नहीं पाकिस्तान  

विश्व भर में टेरर फंडिंग पर नजर रखने वाली संस्था फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की एशिया पैसिफिक ग्रुप की रिपोर्ट आई है । रिपोर्ट में बताया गया है कि  पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है ।

नई दिल्ली:  पाकिस्तान का आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की बात का सच अब सामने आ गया है । प्रधानमंत्री इमरान खान ने आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की ये हकीकत एक बार फिर सामने आ गई है ।

विश्व भर में टेरर फंडिंग पर नजर रखने वाली संस्था फाइनेंसियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की एशिया पैसिफिक ग्रुप की रिपोर्ट आई है । रिपोर्ट में बताया गया है कि  पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र से प्रतिबंधित आतंकी संगठनों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है ।

ये भी देखें : ऐसे हुआ खुलासा! रची गई थी सुखबीर सिंह बादल की हत्या की साजिश

एशिया/पैसिफिक ऑन मनी लॉन्ड्रिंग (एपीजी) की रिपोर्ट में कहा गया है, ”मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग के खिलाफ कार्रवाई के 10 में से 9 मानदंडों पर पाकिस्तान फेल रहा है ।

यहां तक कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के दिशानिर्देशों को लागू करने के लिए पाकिस्तान ने अब तक सही कदम नहीं उठाए । पाकिस्तान ने आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा, जमात-उद-दावा, फलह-ए-इंसानियत और इनके सरगना हाफिज सईद, मसूद अजहर जैसे आतंकियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की ।

पाकिस्तान पर ब्लैकलिस्ट होने का खतरा मंडरा रहा है

रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि आज भी ये आतंकी संगठन पाकिस्तान में खुलेआम सभाएं करते हैं और फंड जुटाते हैं । रिपोर्ट सामने आने के बाद पाकिस्तान पर ब्लैकलिस्ट होने का खतरा मंडरा रहा है । ब्लैकलिस्ट होने पर पाकिस्तान की आर्थिक मोर्चे पर मुसीबत और बढ़ जाएगी । वर्ल्ड बैंक, IMF, जैसी संस्थाओं से पाकिस्तान को कर्ज नहीं मिल पाएगा ।

ये भी देखें : दशहरा पर क्यों खाई जाती है जलेबी, जानें क्या है इसका कनेक्शन?

जम्मू-कश्मीर में सक्रिय हैं 200 से 300 आतंकवादी, पाकिस्तान घुसपैठ कराने की कोशिश में- DGP

पिछले साल जून के महीने में पाकिस्तान को संदिग्ध लिस्ट में डाला गया था, इसके बाद पाकिस्तान की ओर से लगातार आतंक के खिलाफ कार्रवाई की बात कही गई लेकिन हुआ कुछ नहीं । अब अगले हफ्ते पेरिस में FATF का सालाना अधिवेशन होना है, इसी अधिवेशन में पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट में डालने की प्रक्रिया शुरू हो सकती है ।