Top

तबाही से कांपा इंडोनेशिया: विमान हादसा-भूकंप से मचा मातम, लोगों की बिछी लाशें

इंडोनेशिया में विमान दुर्घटना और भूस्खलन के बाद आज शुक्रवार को आए भूकंप ने देश को पूरी तरह से तोड़ के ऱख दिया है। लोग अभी पहली की दुर्घटनाओं से उभर पाए भी नहीं थे, कि भूकंप ने जख्मों को कुरेदते हुए ताजा कर दिए।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 15 Jan 2021 10:25 AM GMT

तबाही से कांपा इंडोनेशिया: विमान हादसा-भूकंप से मचा मातम, लोगों की बिछी लाशें
X
विमान का मलबा और दुर्घटना में मारे गए लोगों की तलाश के काम में 4,132 कर्मी जुटे हुए हैं। इनमें से कुल 14 विमानों, 62 जहाजों और 21 नौकाओं के जरिए यह अभियान चलाया जा रहा है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: तबाही के छाए हुए बादलों ने इंडोनेशिया को तहस-नहस करके रख दिया है। इंडोनेशिया में विमान दुर्घटना और भूस्खलन के बाद आज शुक्रवार को आए भूकंप ने देश को पूरी तरह से तोड़ के ऱख दिया है। लोग अभी पहली की दुर्घटनाओं से उभर पाए भी नहीं थे, कि भूकंप ने जख्मों को कुरेदते हुए ताजा कर दिए। यहां के पश्चिमी सुलावेसी इलाके में आए 6.2 तीव्रता के भूकंप में अब तक कम से कम 35 लोगों की मौत हो गई है। झटकों की वजह से करीब 700 लोग घायल बताए जा रहे हैं। बता दें, भूकंप देर रात 1.28 बजे आया और इसका केंद्र माजेनी सागर से 6 किलोमीटर दूर था।

ये भी पढ़ें...भूकंप से बिछी लाशें: जोरदार झटकों से गिरी 60 से ज्यादा इमारतें, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

15 हजार लोग अपना घर छोड़कर चले गए

ऐसे में भूंकप के बारे में रिपोर्ट से सामने आई जानकारी के अनुसार, भूकंप से गवर्नर के कार्यालय, होटल, कई घरों और स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र को काफी नुकसान पहुंचा है। कम से कम 15 हजार लोग अपना घर छोड़कर चले गए हैं और उन्हें 10 सुरक्षित ठिकानों पर पहुंचाया गया है।

EARTHQUAKE फोटो-सोशल मीडिया

जोरदार झटकों की वजह से करीब 100 से ज्यादा मकान गिर-इमारते गिर गई है। साथ ही भूकंप के कारण कई क्षेत्रों की बिजली गुल हो गई और टेलीफोन नेटवर्क को भी काफी नुकसान पहुंचा है। इसके अलावा कई सड़कें भी क्षतिग्रस्त हुई हैं। सारे साधन पूरी तरह से बंद हो गए हैं।

ऐसे में इंडोनेशिया में बीते हफ्ते जावा सागर में विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद मलबा और शवों की तलाश के कार्य में जुटे दल में शुक्रवार को कुछ और कर्मी जुड़ गए। इस बारे में राष्ट्रीय खोज और बचाव एजेंसी मिशन के संयोजक रासमन ने बताया कि दुर्घटना का शिकार हुए श्रीविजय एयर के विमान की तलाश के लिए हवाई सर्वेक्षण का दायरा भी बढ़ा दिया गया है।

EARTHQUAKE फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...भयानक भूकंप के झटके: डर से कांपे लोग, चारों तरफ मची अफरा-तफरी

तलाश के काम में 4,132 कर्मी जुटे

बताया जा रहा कि विमान का मलबा और दुर्घटना में मारे गए लोगों की तलाश के काम में 4,132 कर्मी जुटे हुए हैं। इनमें से कुल 14 विमानों, 62 जहाजों और 21 नौकाओं के जरिए यह अभियान चलाया जा रहा है। पानी के अंदर मेटल डिटेक्टर का भी इस्तेमाल किया जा रहा। शवों की तलाश के लिए कुछ उपकरणों की भी मदद ली जा रही है।

प्राकृतिक आपदा के कहर से जूझ रहे इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप पर आए तेज भूकंप की वजह से भूस्खलन में कई लोगों को रात के अंधेरे में अपना घर छोड़ना पड़ा। भूकंप एवं भूस्खलन की घटना में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई है।

ऐसे में इंडोनेशिया के अधिकारियों ने बताया कि कम से कम तीन लोगों की मौत हो गई और 24 अन्य लोग घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि वे प्रभावित इलाकों से जानकारी हासिल कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें...जम्मू-कश्मीर में भूकंप: पहाड़ी इलाके थर्राए, इतनी तेज झटकों से कांपे लोग

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story