बाढ़ से कांपा देश: 1000 सैनिक बचाव कार्य में जुटे, हर तरफ मचा हाहाकार

जापान में बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है। बाढ़ और भूस्खलन के चलते यहां 20 लोगों की मौत हो गई। बाढ़ की घटना दक्षिणी जापान में हुई है।

नई दिल्ली। जापान में बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा रखी है। बाढ़ और भूस्खलन के चलते यहां 20 लोगों की मौत हो गई। बाढ़ की घटना दक्षिणी जापान में हुई है। क्यूशू द्वीप पर जबरदस्त मूसलाधार बारिश की वजह से भूस्खलन और बाढ़ आ गई, जिससे पानी एक नर्सिंग होम में घुस गया। जहां 20 लोगों की जान चली गई। हालांकि स्थानीय प्रशासन ने लाखों लोगों को घर खाली करने को कहा है।

ये भी पढ़ें…हार गई चीनी सेना: मोदी के लेह दौरे ने किया कमाल, सीमा से हटने को हुए मजबूर

सामान्य स्तर से भी ऊपर बह रही

बता दें, जापान के कुमामोटो प्रांत में कुमा नदी अपने सामान्य स्तर से भी ऊपर बह रही है। प्रांत में आई बाढ़ के चलते करीब एक दर्जन ओल्ड एज होम तबाह हो गए। वहीं कुमामोटो में 6,000 हजार से ज्यादा घरों की बिजली चली गई।

इस हादसे पर प्रधानमंत्री शिंज़ो आबे ने 10,000 सैनिकों को रेसक्यू ऑपरेशन में तैनात करने का आदेश दिया है। प्रधानमंत्री आबे ने कहा है कि रविवार तक भारी बारिश की आशंका है, ऐसे में लोग ‘अधिक सतर्क’ रहें। सेना के साथ कोस्टगार्ड और फायर ब्रिगेड कर्मचारी बाढ़ से बचाव के लिए जारी अभियान में भाग ले रहे है।

ये भी पढ़ें…पुलिस की मिलीभगत: विकास का तगड़ा कनेक्शन, सरेआम हत्या में नहीं दी गवाही

घरों, कार्यालयों और भवनों में पानी

जापान के क्यूशू द्वीप पर भारी बारिश से कुमामोटो और कगोशिमा प्रांत अधिक प्रभावित हुए हैं। यहां कई सारे घरों, कार्यालयों और भवनों में पानी घुस गया है और बहुत सारी गाड़ियां बाढ़ में डूब गई हैं। भूस्खलन की वजह से कई मकान ध्वस्त हो गए। सैनिक लोगोंं को बाढ़ से बचाने के लिए मकान की छतों का सहारा लेना पड़ रहा हैं।

इसके साथ ही कुमामोटो गांव के एक बुजुर्ग ने बताया कि केयर होम में पानी भर जाने के बाद राहत और बचाव दल ने अपना अभियान चलाया। यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि शनिवार को 14 लोग मारे गए। अधिकारियों ने बताया कि बचाव का कार्य रविवार को भी जारी है।

वहीं लगभग चार दर्जन लोगों अभी भी बाढ वाले इलाके में फंसे हुए हैं। वहीं हितोयोशी सिटी की एक 55 वर्षीय महिला ने बताया कि बाढ़ का पानी बहुत तेजी से दो मंजिले छत तक पहुंच गया।

ये भी पढ़ें…विकास दुबे की लोकेशन मिली: पुलिस शिकंजे से दूर नहीं, यहां हो सकता है छिपा

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App