लापता है खतरनाक आतंकी मसूद अजहर! FATF से बचने के लिए पाक की नई चाल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से ठीक पहले आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें बदला लेने की बात कही गई है। इस वीडियो में पवित्र ग्रंथ ‘कुरान शरीफ’ की आयत का हवाला देकर कहा गया है-‘अगर किसी ने कत्ल किया है तो उसे माफ नहीं किया जाएगा।

नई दिल्ली: पाकिस्तान के कोर्ट में भले ही आतंकी हाफिज सईद को फिलहाल के लिए दस साल की सजा सुना कर फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (FATF) की चेतावनी से बचने और ब्लैक लिस्ट से बाहर रहने का पैतरा अपनाया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान एफएटीएफ की सुनवाई के बाद हाफिज सईद को रिहा कर सकता है।

पाकितान ने FATF को बताया है कि आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मौलाना मसूद अजहर और उसका परिवार लापता हो गया है। हालांकि सूत्रों का कहना है कि वो और उसका परिवार रावलपिंडी में है। बता दें कि मसूद अजहर का संगठन ‘जैश-ए-मोहम्मद’ भारत ही नहीं अमेरिका, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा में भी अपनी आतंकी गतिविधियों को अंजाम दे चुका है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने मसूद अजहर को पिछले साल 1 मई को वैश्विक आतंकी घोषित किया था।

पाकिस्तान ने किया ये दावा

पाकिस्तान ने दावा किया है कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित 16 ग्लोबल आतंकी उनके यहां हैं। इसमें से 7 की मौत हो चुकी है। पाकिस्तान ने ये भी कहा है कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकी संगठनों के करीब साढ़े पांच हज़ार अकाउंट को भी बंद कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें—इस क्रिकेटर ने रचा इतिहास: 9 मैचों में लिए 55 विकेट, दुश्मन टीम के छुड़ा दिए छक्के

ब्लैक लिस्ट होने से बचने का तरीका!

बता दें कि पाकिस्तान का ये सारा पैंतरा FATF से ब्लैक लिस्ट होने से बचने के लिए है। ब्लैक लिस्ट होने पर आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को वर्ल्ड बैंक से कर्ज नहीं मिलेगा। आज से पेरिस में FATF की बैठक पेरिस में शुरू हो रही है। इस बार बैठक की अध्यक्षता चीन कर रहा है। FATF ने जून 2018 में पाकिस्तान को ग्रे लिस्ट में डाला था। साथ ही चेतावनी थी कि वो आतंकी फंडिंग पर तुरंत रोक लगाए। बता दें कि फिलहाल FATF की ब्लैक लिस्ट में ईरान और नॉर्थ कोरिया है।

बीमार होने का दावा

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल ऐसी खबर आई थी कि मसूद अजहर किडनी की बीमारी से जूझ रहा है। ऐसे में ज्यादातर वक्त वह अपने क्वॉर्टर में ही आराम करता है। बीमारी के चेलत वो जैश का कोई भी काम नहीं देख पा रहा। छोटा भाई ही सबकुछ संभाल रहा है। सूत्रों का कहना था कि पाकिस्तान के बहावलपुर में जैश के अभी दो प्रमुख ठिकाने हैं- मरकज उस्मान-ओ-अली और मरकज सुभान अल्लाह। यहां से सारे ऑपरेशंस को रऊफ ही हैंडल कर रहा है।

ये भी पढ़ें—15 दिसंबर को हुई पुलिस की बर्बरता से जुड़ा वीडियो, JCC ने जारी कर दिखाया प्रमाण

ट्रंप के भारत दौरे से पहले जैश-ए-मुहम्मद ने जारी किया वीडियो

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के भारत दौरे से ठीक पहले आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद ने एक वीडियो जारी किया है, जिसमें बदला लेने की बात कही गई है। इस वीडियो में पवित्र ग्रंथ ‘कुरान शरीफ’ की आयत का हवाला देकर कहा गया है-‘अगर किसी ने कत्ल किया है तो उसे माफ नहीं किया जाएगा।

भारत आ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, इस खास कार्यक्रम में लेंगे हिस्सा

वीडियो देखने और सुनने से यह प्रतीत होता है कि इसमें बदला लेने की बात कही गई है। इसमें कहा गया है कि ‘ऐ लोगों बदला जो होता है इंसाफ के साथ उसकी भी जिंदगी है ताकि तुम डर सको और कोई अपराध न करो। यह धमकी भारत सरकार को दी जा रही है। इसमें कहा गया है कि ‘जिस तरह तुमने मुसलमानों को परेशान किया और उनकी बस्तियां जलाई है सबका बदला लिया जाएगा।

इस बीच सुरक्षा एजेंसियों को इस वीडियों के साथ यह लीड मिली है कि इस महीने की शुरुआत में पीओके (PoK) में आतंकी तंजीमो की बैठक की गई थी और आईएसआई और पाक सेना के अधिकारी भी इस मीटिंग में मौजूद थे।