माइक्रोसॉफ्ट की चेतावनी, अप्रवासियों को पनाह नहीं देने वाले देशों का होगा ऐसा हाल

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने चेतावनी देते हुए कहा कि जो देश अप्रवासियों को पनाह नहीं देगें उन्हें बड़ा नुकसान होगा और टेक्नोलॉजी सेक्टर में भी विकास नहीं होगा।

नई दिल्ली: माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने चेतावनी देते हुए कहा कि जो देश अप्रवासियों को पनाह नहीं देगें उन्हें बड़ा नुकसान होगा और टेक्नोलॉजी सेक्टर में भी विकास नहीं होगा।

नडेला ने कहा कि सभी देशों को अप्रवासियों का समर्थन करना चाहिए, हालांकि उन्होंने भारत का नाम नहीं लिया। ऐसे में उनका इशारा दुनियाभर के लिए कहा जा सकता है।

एक इंटरव्यू में कहा है कि हर देश अपने राष्ट्रीय हित के बारे में पुनर्विचार कर रहा है, लेकिन आपको यह भी सोचना है कि आपके देश में लोग तभी आएंगे जब आपकी पहचान एक अप्रवासी मित्र देश के रूप में होगी। उन्होंने कहा कि सरकार को अप्रवासियों को लेकर संकीर्ण सोच नहीं रखनी चाहिए।

ये भी पढ़ें…सीएए पर गरजे RSS प्रमुख: काशी-मथुरा पर कही ये बड़ी बात

इससे पहले सत्या नडेला ने नागरिकता संशोधन कानून सीएए को लेकर भारत में जारी विरोध-प्रदर्शनों को लेकर कहा था कि भारत में जो हो रहा है वह दुखःद है। इस बयान के बाद हुए बवाल के कुछ घंटों बाद नडेला ने कहा था कि प्रत्येक देश को अपनी सीमाएं निर्धारित करने, राष्ट्रीय सुरक्षा करने और इमिग्रेशन पॉलिसी बनाने का अधिकार है।

सत्या नडेला ने बजफीड के संपादक बेन स्मिथ को दिए एक इंटरव्यू में कहा था, ‘मुझे अच्छा लगेगा अगर कोई बांग्लादेशी अप्रवासी भारत में इन्फोसिस का सीईओ बनता है। यह प्रेरणा की बात होनी चाहिए। अगर मैं खुद को शीशे में देखूं तो अमेरिका में जो मेरे साथ हुआ वही भारत में भी होना चाहिए।’

ये भी पढ़ें…कांग्रेस विधायक ने इस तरह किया सीएए का विरोध, जानकर हो जाएंगे हैरान