इटली में चमत्कारी गांव: 14 हजार मौतों के बाद भी कोरोना नहीं रख पाया कदम

इटली में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक लगभग 13,000 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 1 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित है। कोरोना के जंजाल से इटली क्या पूरा विश्व परेशान है।

नई दिल्ली : इटली में कोरोना वायरस की वजह से अभी तक लगभग 13,000 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके साथ ही 1 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित है। कोरोना के जंजाल से इटली क्या पूरा विश्व परेशान है। इटली की चिकित्सा व्यवस्था वल्ड क्लास होने के बावजूद फेल हो गई है। डॉक्टरों की मौते हो रही है। रोजाना सैकड़ों लोग मारे जा रहे हैं, वहीं इटली का एक गांव ऐसा भी है, जहां कोरोना वायरस पहुंच भी नहीं पाया है। यहां के सभी लोग सुरक्षित हैं और कोरोना  की गिरफ्त से बाहर है।

गांव का पानी जादुई

इटली के इस गांव का नाम मोंताल्दो तोरीनीज है। ये गांव इटली के पूर्वी इलाके पियोदमॉन्ट के तुरीन शहर के अंदर आता है। आपको हैरानी होगी लेकिन यहां के लोगों का मानना है कि इस गांव के साफ पानी और हवा की वजह से कोरोना यहां नहीं पनप पाया है।

ये भी पढ़ें… कोरोना: राजस्थान में एक व्यक्ति से 17 लोग संक्रमित, महाराष्ट्र में मरीजों की संख्या 338

कई लोगों का ऐसा कहना है कि इस गांव का पानी जादुई है। यहां की खूबसूरती अद्भुत है। इसलिए अभी तक कोरोना का एक भी केस सामने नहीं आया। इसी पानी से सन् 1800 में नेपोलियन बोनापार्ट के सैनिकों का निमोनिया ठीक हुआ था। नेपोलियन की सेना ने यहां 1800 के जून महीने में कैंप लगाया था।

कुएं के पानी

इटली का मोंताल्दो तोरीनीज गांव तुरीन शहर से करीब 20 किलोमीटर दूर है। आश्चर्य की बात तो ये है कि तुरीन शहर में कोरोना के 3600 से ज्यादा मामले सामने आएं है। पियोदमॉन्ट की हालत खराब है। यहां 8200 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस की चपेट में है। लेकिन मोंताल्दो तोरीनीज में एक भी केस नहीं है।

पियोदमॉन्ट के मेयर सर्गेई गियोती ने बताया कि मोंताल्दो तोरीनीज की साफ हवा और कुएं के पानी की वजह से नेपोलियन की सेना ठीक हुई थी। हो सकता है इस कुएं के पानी की वजह से यहां के लोग अब तक सुरक्षित बचे हुए हैं।

ये भी पढ़ें… इजराइल के स्वास्थ्य मंत्री याकोव लिटमैन और उनकी पत्नी को कोरोना

फिर सर्गेई ने बताया कि इस गांव के कई लोग तुरीन शहर जाते हैं। तुरीन में कोरोना का संक्रमण बहुत ज्यादा है। लेकिन इस गांव के लोग वहां से वापस आने के बाद भी स्वस्थ हैं। उन्हें किसी भी प्रकार का संक्रमण नहीं है।

महामारी के बारे में जागरूक

हालांकि, इसके बावजूद मोंताल्दो तोरीनीज गांव में मेयर सर्गेई ने मास्क और सैनिटाइजर बांटे हैं। कोरोना वायरस के बारे में बताया है ताकि लोग इस महामारी के बारे में जागरूक हो जाएं।

मोंताल्दो तोरीनीज गांव में कुल 720 लोग रहते हैं। सर्गेई ने बताया कि यहां के लोगों की जीवनशैली बेहद सामान्य और सेहतमंद है। यहां के लोग किसी भी तरह से गंदगी से समझौता नहीं करते। चाहे वह खुद की हो या गांव की। ऐसे में किसी भी बीमारी का हावी होना नामुमकिन है।

ये भी पढ़ें… सारा ने वीडियो शेयर कर मचाया हड़कंप, सोशल मीडिया पर हो रही ट्रोल

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App