नेपाल बन रहा भारत के लिए बड़ा खतरा, यहां 200 नई BOP और हेलीपैड का काम शुरू

पाकिस्तान और नेपाल दोनों ही चीन के इशारे पर काम कर रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब नेपाल ने चीन के उकसावे में आकर भारत-नेपाल बॉर्डर पर कई जगह अपनी गतिविधियों को तेज कर दी है।

Published by Aditya Mishra Published: August 3, 2020 | 9:15 pm
Modified: August 3, 2020 | 9:18 pm

नई दिल्ली: लद्दाख में सीमा विवाद के बाद भारत और चीन के बीच तल्खी बढ़ती ही जा रही है। चीन भारत को घेरने के लिए हर वो हथकंड़ा अपना रहा है जिसके लिए वो जाना जाता है। वह एक ओर पाकिस्तान को पूरी तरीके से मदद करने में जुटा हुआ है तो दूसरी तरफ नेपाल को भी उकसाने में लगा हुआ है।

यही वजह है कि पाकिस्तान और नेपाल दोनों ही चीन के  इशारे पर काम कर रहे हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब नेपाल ने चीन के उकसावे में आकर भारत-नेपाल बॉर्डर पर कई जगह अपनी गतिविधियों को तेज कर दी है। नेपाल ने पूरे बॉर्डर पर अपनी तरफ 200 से ज्यादा नई बॉर्डर आउट पोस्ट बनाने का काम शुरू किया है, ये काम नेपाल पहले नहीं कर रहा था।

कुलभूषण जाधव केस में पाकिस्तान ने भारत को दी बड़ी राहत, साथ में लगाई ये शर्त

इन इलाकों में तेजी से चल रहा बीओपी बनाने का काम

प्राप्त जानकारी के अनुसार नेपाल ने अबतक अपने इलाके खलंगा, छांगरु और झूलाघाट के बाद पंचेश्वर के रोलघाट में भी बीओपी बनाकर वहां सशस्त्र प्रहरी फोर्स के जवानों की सुरक्षा के काम में लगा दिया है। उसने नेपाल लिपुलेख के पास भी नई बीओपी बनाने का काम आरंभ कर दिया है।। इन दिनों नेपाल जिस ढंग से इतनी भारी संख्या में अपनी तरफ बीओपी बना रहा है ये खतरनाक मंसूबे की ओर इशारा करते हैं।

जानकारी ये है कि पूरे भारत-नेपाल बॉर्डर पर हमारे देश की बॉर्डर गार्डिंग फोर्स (एसएसबी) तैनात है जिसकी 500 बीपीओ हैं। नेपाल भी भारत की बराबरी करने में जुटा है और उसने भी 400 से 500 बीओपी अपने एरिया में बनाना शुरू कर दिया है। सुरक्षा महकमे के सूत्रों में बताया कि अभी पूरे बॉर्डर पर नेपाल की सिर्फ 130 बीओपी है।

भारत के राफेल से कांप उठा चीन, डर के मारे जल्दी से यहां तैनात किये बमवर्षक विमान

नेपाल यहां तेजी से बना रहा हेलीपैड

नेपाल ने लिपुलेख के पास नेपाल गरबाधार और झांगरू में दो हेलीपैड्स बना लिए हैं। जिसमें भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने कई हेलीकॉप्टर की सॉरटीज़ देखी हैं। इसके अलावा भारत-नेपाल बॉर्डर के उस पार कई हेलीपैड की जगह देखी गई है और कई जगह पर निर्माण कार्य भी चल रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन और सीमा विवाद के बीच नेपाल ने अपनी सीमा पर चौकसी बढ़ा दी है। नेपाल के झूलाघाट स्थित सीमा पुल पर अस्थाई चौकी खोलकर जवानों की तैनाती भी कर दी है।

सुरक्षा एजेंसियों ने जानकारी दी है कि नेपाल ‘सुस्ता’ में भी एक हेलीपैड बना रहा है। ये एरिया बिहार के पूर्वी चंपारण के नजदीक पड़ता है। ये एरिया बाढ़ प्रभावित एरिया है, डिस्प्यूटेड लैंड है। नेपाल यहां भी चालाकी से हेलीपैड बना रहा है।

सूत्रों ने बताया है कि झूलाघाट में बीओपी पर एपीएफ के दो दर्जन से ज्यादा जवान तैनात हो चुके हैं। पुल के पास सशस्त्र प्रहरी बल (एपीएफ) का अस्थाई बंकर बन रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, नेपाल एक और हेलीपैड त्रिवेणी में आर्मी कैंप के पास बना रहा है। साथ ही उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले के सामने नवलपरासी में भी हेलीपैड बना रहा है जो सीमा से तकरीबन 10 किमी की दूरी पर है।

क्या भारत से जंग चाहता है नेपाल, बार-बार इन तीन इलाकों पर क्यों कर रहा दावा?

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App