अद्भुत खोज: मिला धरती जैसा एक और ग्रह, बस इतना ही है दूर

वैज्ञानिकों ने एक बड़ी खोज की है। उन्होंने एक धरती जैसा ग्रह खोज निकाला है, जो धरती से 25 हजार प्रकाश वर्ष दूर मिला है। इस ग्रह (exoplanet) की खोज न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने की है।

नई दिल्ली: वैज्ञानिकों ने एक बड़ी खोज की है। उन्होंने एक धरती जैसा ग्रह खोज निकाला है, जो धरती से 25 हजार प्रकाश वर्ष दूर मिला है। इस ग्रह (exoplanet) की खोज न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने की है। इस ग्रह पर चट्टान पाए गए हैं, जो इसे बाकी ग्रहों से अलग बनाते हैं। हालांकि अभी तक इस ग्रह का कोई नाम नहीं रखा गया है। लेकिन इसकी खोज करने वाले माइक्रोलेंसिंग का नाम है OGLE-2018-BLG-0677.

एक तारे का चक्कर लगा रहा ग्रह

यह सूर्य के 10वें हिस्से के बराबर आकार का बताया जा रहा है। वैज्ञानिकों ने पाया कि यह ग्रह एक तारे का चक्कर लगा रहा है। इस ग्रह की खोज करने वाले न्यूजीलैंड के कैंटरबरी यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों का कहना है कि यह अद्भुत खोज लाखों में एक है। हालांकि यह ग्रह है या नहीं इसे लेकर विवाद बना हुआ है। कई दूसरे अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि यह एक्सोप्लॉनेट है।

यह भी पढ़ें: शासन की टीम ने गल्ला मण्डी में मारा छापा, जो देखा उसका किया बखान

यह भी पढ़ें: प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को लिखा पत्र, आर्थिक संकट पर दिया ये सुझाव

अब तक 4000 एक्सोप्लॉनेट की खोज

अंतरिक्ष वैज्ञानिकों का कहना है कि सोलर सिस्टम के बाहर आज तक लगभग 4000 एक्सोप्लॉनेट की खोज की गई है। जिनमें से एक तिहाई ग्रह ही चट्टानों वाले हैं। इनमें से बहुत कम ग्रह ही ऐसे हैं, जिनकी ऑरबिट धरती की तरह हैं।

इस अद्भुत ग्रह की खोज करने वाले वैज्ञानिकों का कहना है कि यह ग्रह जिस तारे की परिक्रमा कर रहा है द्रव्यमान इतना कम है कि उसकी पहचान नहीं की जा सकी है।

तारों की घनी आबाजी में कर रहा परिक्रमा

वैज्ञानिकों ने जानकारी दी कि यह ग्रह मिल्की वे के उस क्षेत्र में परिक्रमा कर रहा है, जहां पर तारों की घनी आबादी है। इसलिए भविष्य में ऐसा संभव है कि यह ग्रह अपने तारे को छोड़कर किसी अन्य तारे की परिक्रमा करने लगे।

यह भी पढ़ें: अभी-अभी PM मोदी की हाईलेवल बैठक, लॉकडाउन पर होगी बड़ी चर्चा

पांच दिनों में हुई ग्रह की पहचान

न्यूजीलैंड के कैंटरबरी यूनिवर्सिटी में रिसर्च प्रकाशित करने वाले प्रमुख साइंटिस्ट हेरेरा मार्टिन का कहना है कि हमारी टीम को कम रोशनी के चलते इस तारे को ध्यान से देखने में पांच दिनों का समय लगा। उन्होंने कहा कि नए मिले ग्रह का आकार, ऑरबिट और लोकेशन, इस खोज को काफी खास बनाता है।

एक साल धरती के 617 दिनों के बराबर

उन्होंने बताया कि ग्रह पृथ्वी और नेपच्यून के बीच है। हमारे सौरमंडल के मुताबिक, इस ग्रह का ऑर्बिट पृथ्वी और शुक्र के बीच जितनी दूरी पर स्थित है, यहां एक साल धरती के 617 दिनों के बराबर है।

यह भी पढ़ें: गायब हुए इमरान खान: विपक्ष हुआ हमलावर, पाकिस्तान में बवाल

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।