×

घातक हिंसा से देश में कोहराम, देखते ही देखते श्मशान बने गांव, 137 लोगों की मौत

बंदूकधारी हमलावरों ने गांवों में कई घरों को आग के हवाले कर दिया और भीड़ पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं। इस हमले में कम से कम 137 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

Shreya
Updated on: 23 March 2021 9:18 AM GMT
घातक हिंसा से देश में कोहराम, देखते ही देखते श्मशान बने गांव, 137 लोगों की मौत
X
घातक हिंसा से देश में कोहराम, देखते ही देखते श्मशान बने गांव, 137 लोगों की मौत
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नियामे:पश्चिम अफ्रीकी देश नाइजर (Niger) से बड़ी खबर सामने आ रही है, जहां पर बंदूकधारियों ने रविवार को भयंकर तांडव मचाया है। माली से लगे नाइजर की अशांत सीमा के पास स्थित गांवों में मोटरबाइक सवार बंदूकधारियों ने हमला कर दिया और देखते ही देखते गांव श्मशान में तब्दील हो गए। बता दें कि इन बंदूकधारियों ने तीन घंटे में 136 लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

हाल ही में हुई सबसे घातक हिंसा

बता दें कि हमलावर बंदूकधारी थे और बाइक पर सवार थे। उन्होंने गांवों में कई घरों को आग के हवाले कर दिया और भीड़ पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं। इस हमले में कम से कम 137 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। सरकार ने इसे हाल ही में हुई सबसे घातक हिंसा करार दिया है। रविवार को हुए इस हमले की पुष्टि सरकार के प्रवक्ता अब्दुर्रहमाने जकरिया (Abdourahmane Zakaria) ने सोमवार को की है।

यह भी पढ़ें: संसद में गंदी हरकत: सांसदों के अश्लील वीडियो लीक, हुआ चौंकाने वाला खुलासा

dead body (सांकेतिक फोटो- सोशल मीडिया)

नहीं ली अब तक किसी ने हमलों की जिम्मेदारी

अभी तक नाइजर के इन गांवों पर हुए हमलों की जिम्मेदारी किसी ने भी नहीं ली है। हालांकि इस्लामिक कट्टरपंथी बहुत ही दुर्लभ मामलों में इस तरह के हमलों की जिम्मेदारी लेते हैं। लेकिन देश में होने वाले ज्यादातर नागरिक की हत्याओं का जिम्मेदार उन्हें ही ठहराया जाता है। आपको बता दें कि पश्चिमी नाइजर इलाके में पिछले कुछ सालों से आतंकी गतिविधियां काफी बढ़ी हैं।

यह भी पढ़ें: 5 दिन का लॉकडाउन: तेजी से बिगड़ते हालातों पर बड़ा ऐलान, 3 अप्रैल को खुलेंगी दुकानें

एक हफ्ते पहले 66 लोगों की हुई थी हत्या

अभी हाल ही में कुछ संदिग्ध आतंकियों ने करीब 66 लोगों की हत्या कर दी थी। इन इलाकों में केवल आम जनता ही नहीं बल्कि देश के सुरक्षाबल भी इन हमलों के निशाने बने हैं।

यह भी पढ़ें: US बॉर्डर पर हजारों नाबालिग, बढ़ रही प्रवासियों की संख्या, सरकारी आंकड़ो से खुलासा

दोस्तों देश और दुनिया की खबरों को तेजी से जानने के लिए बने रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story