×

ओली के अड़ियल रुख से नेपाल में फंसा पेंच, बेनतीजा रही शीर्ष नेताओं की बैठक

नेपाल में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के लिए पैदा हुए संकट का अभी तक समाधान नहीं खोजा सका है। ओली और नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के कार्यकारी प्रमुख पुष्प कमल दहल प्रचंड...

Newstrack
Updated on: 17 July 2020 4:33 AM GMT
ओली के अड़ियल रुख से नेपाल में फंसा पेंच, बेनतीजा रही शीर्ष नेताओं की बैठक
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

अंशुमान तिवारी

काठमांडू: नेपाल में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के लिए पैदा हुए संकट का अभी तक समाधान नहीं खोजा सका है। ओली और नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (एनसीपी) के कार्यकारी प्रमुख पुष्प कमल दहल प्रचंड के बीच गुरुवार को हुई बातचीत एक बार फिर बेनतीजा रही। बातचीत के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री माधव कुमार नेपाल भी मौजूद थे मगर इस बातचीत में संकट के समाधान का फार्मूला नहीं खोजा जा सका। सत्तारूढ़ पार्टी की आज होने वाली बैठक में ओली का राजनीतिक भविष्य तय होने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें: बिहार में पुल की एप्रोच सड़क बही: ग्रामीणों समेत इनके खिलाफ FIR, लगा ये आरोप

ओली पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं

जानकार सूत्रों के मुताबिक तीनों नेताओं की महत्वपूर्ण बैठक बालूवाटार में पीएम ओली के आवास पर हुई। पीएम ओली प्रधानमंत्री और एनसीपी के अध्यक्ष पद में से कोई भी पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं हैं। सूत्रों के मुताबिक बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकलने का यही प्रमुख कारण है। ओली के अड़ियल रुख के कारण संकट का समाधान नहीं हो पा रहा है। तीनों नेताओं की यह महत्वपूर्ण बैठक सत्तारूढ़ पार्टी कि 45 सदस्यीय स्थायी समिति की महत्वपूर्ण बैठक की पूर्व संध्या पर आयोजित की गई थी।

ये भी पढ़ें: स्वास्थ्य मंत्री बोले- कोरोना से सिर्फ भगवान ही बचा सकते हैं, बयान पर मचा बवाल

किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सके तीनों नेता

स्थायी समिति के सदस्य गणेश शाह ने बताया कि तीनों नेता किसी समझौते पर नहीं पहुंच सके। पीएम ओली और असंतुष्ट समूह के नेता प्रचंड अपनी-अपनी मांगों पर अड़े रहे। प्रचंड ओली पर दोनों पदों में से एक पद छोड़ने का दबाव बना रहे हैं। हाल के दिनों में दोनों नेताओं के बीच आठ दौर की वार्ता हो चुकी है मगर किसी भी बैठक में संकट के समाधान का फॉर्मूला नहीं खोजा जा सका है।

एनसीपी की आज महत्वपूर्ण बैठक

सत्तारूढ़ नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की शुक्रवार को महत्वपूर्ण बैठक होने वाली है। इस बैठक पीएम ओली के राजनीतिक भविष्य पर फैसला होने की उम्मीद है। ओली ने आरोप लगाया है कि भारत की ओर से उन्हें पद से हटाने की साजिश रची जा रही है और इसके लिए सत्तारूढ़ पार्टी के कुछ नेताओं की मदद की जा रही है। प्रचंड सहित पार्टी के कई नेता ओली के इस्तीफे की मांग पर अड़े हुए हैं और उनका कहना है कि ओली की हाल में की गई भारत विरोधी टिप्पणियां राजनीतिक और कूटनीतिक नजरिए से सही नहीं है। उनका आरोप है कि ओली निरंकुश तरीके से नेपाल में शासन चला रहे हैं।

ये भी पढ़ें: MP में दंपत्ति की पिटाई: BJP ने दिग्विजय को लपेटा, CM शिवराज को लिखी चिट्ठी

स्थायी समिति में प्रचंड गुट हावी

प्रधानमंत्री के प्रेस सलाहकार सूर्य थापा ने कहा कि तीनों नेताओं की बैठक करीब 2 घंटे तक चली मगर बातचीत बेनतीजा साबित हुई। नेपाली मीडिया का कहना है कि एनसीपी की 45 सदस्यीय स्थायी समिति में प्रचंड गुट ओली पर भारी साबित हो रहा है। सूत्रों के मुताबिक प्रचंड को 30 से अधिक सदस्यों का समर्थन हासिल है और प्रचंड की अगुवाई में ये सभी सदस्य ओली के इस्तीफे की मांग पर अड़े हुए हैं।

चीन की कोशिशें भी कामयाब नहीं

भारत से दूरियां बढ़ने के बाद हाल के दिनों में नेपाल और चीन की दोस्ती मजबूत हुई है। चीन नेपाल में कई परियोजनाओं में पैसा लगा रहा है। नेपाल में तैनात चीन की राजदूत होऊ यांगी पीएम ओली की कुर्सी बचाने की कोशिश में जुटी हुई हैं। उन्होंने पीएम ओली को बचाने के लिए प्रचंड और कई अन्य बड़े नेताओं से बातचीत की है। हालांकि अभी तक उन्हें भी अपने प्रयासों में कामयाबी नहीं मिल सकी है और पीएम ओली की कुर्सी के लिए संकट बरकरार है।

ये भी पढ़ें: OMG: पानी के अंदर बना ये महल भारत की है शान, 221 साल पुराना है इसका इतिहास

Newstrack

Newstrack

Next Story